होम 2020 अगस्त

मासिक आर्काइव: अगस्त 2020

दी ग्रेट कपिल शर्मा

दी ग्रेट कपिल शर्मा   --> कपिल कपिल नहीं, हंसी का फब्बारा है |?| 1.दी कपिल शर्मा टी.वी.शो, लाफिंग गैस का गुब्बारा है | आता शनि रविबार रात...

था वो हुस्नो  शबाब से पानी

था वो हुस्नो  शबाब से पानी   था वो हुस्ने  शबाब से पानी ख़ूब महका गुलाब से पानी   उतरेगा प्यार का नशा कैसे पी न ऐसे शराब से पानी   लें...

शिंजो अबे का इस्तीफा

शिंजो अबे का इस्तीफा *****   कोरोना के बीच जापानी प्रधानमंत्री ने इस्तीफे की घोषणा की है, सुन जापानियों में एक हलचल सी मची है। शेयर बाजार धराशाई हो गया, एक स्थिर सरकार...

याद आज़म को बहुत ही आ रही है आपकी

याद आज़म को बहुत ही आ रही है आपकी   याद आज़म को बहुत ही आ रही है आपकी ज़िन्दगी में रोज़ ही लगती  कमी है आपकी   इसलिये...

आओ पेड़ लगाएं हम

आओ पेड़ लगाएं हम ***** आओ पेड़ लगाएं हम, चहुंओर दिखे वन ही वन। निखर जाए वातावरण, स्वच्छ हो जाए पर्यावरण। बहें नदियां निर्मल कल-कल, बेहतर हो जाए वायुमंडल। नाचे मयूर होकर...

रब उसको मुझसे प्यार हो जाये

रब उसको मुझसे प्यार हो जाये   कोई ऐसी बहार हो जाये रब उसको मुझसे प्यार हो जाये   खेलना छोड़ो संग बच्चों के दुश्मन का अब शिकार हो जाये   वो...

गुरु की महिमा ( दोहे )

गुरु की महिमा ( दोहे ) ***** १. गुरु चरणन की धुलि,सदा रखो सिरमौर आफत बिपत नाहिं कभी,आवैगी तेरी ओर। २. गुरु ज्ञान की होवें गंगा,गोता लगा हो चंगा बिन ज्ञान...

रोज़ उसकी आरजू ये जिंदगी करती रही

रोज़ उसकी आरजू ये जिंदगी करती रही   यार पाने को उसको ही बेकली करती रही रोज़ उसकी आरजू ये जिंदगी करती रही   पर यहाँ चेहरे हज़ारों थे...

कर गया है मेरा ही दग़ा आज दिल

कर गया है मेरा ही दग़ा आज दिल      कर गया है मेरा ही दग़ा आज दिल ये किसी पे फ़िदा हो गया आज दिल   आज तो याद...

शहरों की हकीकत !

शहरों की हकीकत! ***** जेठ की दुपहरी प्रचंड गर्मी थी पड़ रही लगी प्यास थी बड़ी निकला ढ़ूंढ़ने सोता पर यह शहरों में कहां होता? भटका इधर उधर व्याकुल होकर दिखा न कहीं...