Kabhi Na Hona Udaas
Kabhi Na Hona Udaas

कभी ना होना उदास

( Kabhi Na Hona Udaas)

 

कभी ना होना उदास
निराश ना गुमसुम
प्रगति वर्ष पर
प्रवेश कर रही हो तुम
मिलेगी राह में कई दीवारें
चुनौतियाँ और मझधारें
हिम्मत ना हारना हौसला रखना
अगर गिर जाए सारी पतवारें
होगी परीक्षा भी समीक्षा भी
और चलेगा
तुम्हारी चर्चाओं का दौर भी
तब मजा आएगा लिखने का
पढ़ने का कुछ और भी
लोकतन्त्र का चौथा स्तम्भ
साहित्य तुम
पत्रकारिता का आधार हो
नित्य नूतन चिर पुरातन
पाठकों का प्यारा संसार हो

 

🍀

कवि :विशाल शुक्ल

पातालेश्वर मार्ग
छिंदवाड़ा

( मध्यप्रदेश )

यह भी पढ़ें :-

जीत हमारी ही होगी | Motivational Kavita

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here