अनलाॅक 4.0 | Kavita unlock 4.0

अनलाॅक 4.0 ( Unlock 4.0 ) *** लाॅकडाउन से छुटकारा मिला है, कोरोना से नहीं! बाजार जाएं शौक से पर बरतें सावधानियां कई? बात नहीं है कोई नई, सारी हैं वही। लापरवाही पड़...

बादल | Badal par kavita

बादल ( Badal ) *** ओ रे ! काले काले बादल, बरस जा अब, सब हो गए घायल ! धरती अंबर आग उगल रहे, ऊष्मा से ग्लेशियर पिघल रहे! सूख गए हैं खेतों...

मुझे खुशी है की मेरा कोई अपना नहीं है | Mera...

मुझे खुशी है की मेरा कोई अपना नहीं है ( Mujhe khushi hai ki mera koi apna nahi hai )     बाक़ी ज़माना सा तो नहीं खलता...

एक अजीब लड़की | Poem ek ajeeb ladki

एक अजीब लड़की ! ( Ek ajeeb ladki ) ***** घड़ी घड़ी कपड़े है बदलती, बिना काम बाजारों में है टहलती। अभी दिखी थी साड़ी में, अब आई है गाउन...

सकल घरेलू उत्पाद पर निबंध | Essay in Hindi on GDP

सकल घरेलू उत्पाद पर निबंध ( Essay in Hindi on gross domestic product - GDP )   किसी भी देश की Economy की रफ्तार को उसके GDP...

सब क्यों नहीं | Kyon nahi | kavita

सब क्यों नहीं ? ( Sab kyon nahi ) ***** खुशबू सा महक सकते? चिड़ियों सा चहक सकते? बादलों सा गरज सकते? हवाओं सा बह सकते? बिजली सा चमक सकते? बर्फ सा...

खिल रहे है गुलाब पानी में | Gulab shayari

खिल रहे है गुलाब पानी में ! ( Khil rahe hai gulab pani mein )     खिल रहे है गुलाब पानी में! था पर वो  आफ़ताब पानी में   बारिशों...

कोरोना काल में हो रहे सब मोटे | Corona kal par...

कोरोना काल में हो रहे सब मोटे ! ***** कोरोना काल में बिगड़ी है आदत, बढ़ी है तला भुना खाने की चाहत। छुट्टियों जैसे सब खाना खा रहे...

रक्त पीना : मच्छरों की शौक या मजबूरी | Machchhar par...

रक्त पीना : मच्छरों की शौक या मजबूरी? ******* ये हम सभी जानते हैं, मच्छर खून पीते हैं। डेंगी , मलेरिया फैलाते हैं, सब अक्सर सोचते हैं! ये ऐसा करते...

ईद की आयी यारों हसीं रात है | Eid shayari

ईद की आयी यारों हसीं रात है ( Eid ki aayi yaaron haseen raat hai )     ईद की आयी यारों हसीं रात है हर तरफ़ खुशियों की...