Urdu Poetry -ऐ ख़ुदा यही है दुआ मेरी , मैं गिरूँ न दिल के मक़ाम से

ऐ ख़ुदा यही है दुआ मेरी , मैं गिरूँ न दिल के मक़ाम से ( Ai Khuda Yahi Hai Dua Meri , Main Giroon Na Dil Ke Maqaam Se )     ऐ ख़ुदा यही है दुआ मेरी , मैं गिरूँ न दिल के मक़ाम से मेरी  जिंदगी  को  नवाज़  दे तू मुहब्बतों  के  इनाम … Continue reading Urdu Poetry -ऐ ख़ुदा यही है दुआ मेरी , मैं गिरूँ न दिल के मक़ाम से