अंजुमन हम सजा के बैठ गये | Anjuman Shayari

अंजुमन हम सजा के बैठ गये ( Anjuman Hum Saja ke Baith Gaye )    अंजुमन हम सजा के बैठ गये वो भी पहलू में आके बैठ गये वो...

मृत्यु | Mrtyu par Bhojpuri Kavita

मृत्यु ( Mrtyu )  हम अकेले ब‌इठ के कुछ सोचत रहनी गाल पे रख हाथ कुछ देखत रहनी तलेक कान में कहीं से घंटी के आवाज ग‌इल निंद टुटल,...

परिन्दे | Parinde par Kavita

परिन्दे! ( Parinde )    परिन्दे ये तारों पे बैठने लगे हैं, बेचारे ये जड़ से कटने लगे हैं। काटा है जंगल इंसानों ने जब से, बिना घोंसले के ये...

ज़िंदगी पढ़ा देती पाठ | Poem in Hindi on Zindagi

ज़िंदगी पढ़ा देती पाठ ( Zindagi padha deti path )    जिनके दिलों में नही होती गांठ, उनके होता सदा घर में ही ठाठ, जिनके दिलों में होती है...

28 एवं 29 जनवरी के मासिक ऑनलाइन कवि सम्मेलन एवं मुशायरे...

28 एवं 29 जनवरी के मासिक ऑनलाइन कवि सम्मेलन एवं मुशायरे की रिपोर्ट   तिरंगा काव्य मंच का 34 वां मासिक ऑनलाइन कवि सम्मेलन एवं मुशायरा...

यह घूंघट | Ghoonghat par Kavita

यह घूंघट ( Yah ghoonghat )    चेहरें पर आएं नक़ाब या शायरी, या फिर आएं घूँघट का ही पर्दा। चल रही सदियों पुरानी यह रीत, कम हो रही आज...

स्मार्ट वॉच है मिनी स्मार्टफोन | Smart Watch par Kavita

स्मार्ट वॉच है मिनी स्मार्टफोन ( Smart watch hai mini smartphone )    इस स्मार्ट-वाॅच का आज कल हर कोई है दीवाना, कहने को ये घड़ी है जिसे...

हडिया | Haria Bhojpuri Kahani

" हडिया " ( Haria )  एगो गांव में एगो लड़की रहे उ बहुत सुन्दर रहे लेकिन उ बहुत झगडाईन रहे । गांव के सारा...

समोसा | Samosa par Bhojpuri Kavita

समोसा ( Samosa )    आज खड़ा रहनी हम बजार में भिंड भरल रहे अउर सबे रहे अपना काम में दुकानदार चि‌‌ललात रहे हर चिज़ के दाम के तले एगो...

क्रोध है ऐसी अग्नि | Krodh par Kavita

क्रोध है ऐसी अग्नि ( Krodh hai aisi agni )    खुशियों से भरा रहता है उन सब का जीवन, सकारात्मक सोच रखें एवं काबू रखते-मन। काम क्रोध मद...