समोसा | Samosa par Bhojpuri Kavita

समोसा ( Samosa )    आज खड़ा रहनी हम बजार में भिंड भरल रहे अउर सबे रहे अपना काम में दुकानदार चि‌‌ललात रहे हर चिज़ के दाम के तले एगो...

क्रोध है ऐसी अग्नि | Krodh par Kavita

क्रोध है ऐसी अग्नि ( Krodh hai aisi agni )    खुशियों से भरा रहता है उन सब का जीवन, सकारात्मक सोच रखें एवं काबू रखते-मन। काम क्रोध मद...

वीर तेजाजी | Veer Tejaji par Kavita

वीर तेजाजी ( Veer Tejaji )    सत्यवादी और वचनों पर अटल रहने वाले, आश्चर्यचकिंत व साहसिक कारनामो वाले। राजकाज से दूर गौसेवा में लीन रहने वाले, कुॅंवर तेजपाल थें...

चराग- ए – मोहब्बत | Poem Charagh-E-Mohabbat

चराग- ए - मोहब्बत ( Charagh-e-mohabbat )    चराग-ए-मोहब्बत जलाने चला हूँ, नई जिन्दगी अब बसाने चला हूँ। जुल्फों को बाँध ले तू ऐ! महजबी, मौसम-ए-बहार मैं लाने चला हूँ। आशिकी...

वतन की शान में देशभक्ति काव्य गोष्ठी व पुस्तको का विमोचन...

वतन की शान में देशभक्ति काव्य गोष्ठी व पुस्तको का विमोचन हुआ   एसोसियेषन ऑफ़ अलायन्स क्लब्स इंटरनेशनल व राष्ट्रीय साहित्यिक संस्था ‘शब्दाक्षर’ के तत्वावधान में...

लाला लाजपत राय | Lala Lajpat Rai par Kavita

लाला लाजपत राय ( Lala Lajpat Rai )    ऐसे नेताओं में एक थें वह लाला लाजपत राय, स्कूली शिक्षण पश्चात किए जो‌ कानूनी ‌पढ़ाई। धर्म-पत्नी जिनकी राधा देवी...

रक्तदान महादान | Poem in Hindi on Raktdan

रक्तदान महादान ( Raktdan mahadan )   आज सभी लोग करों रक्त का दान, इससे बड़ा नही कोई भी महा दान। आज बचावोगे आप कोई भी जान, कल वो बचाएगा...

साथ दो तुम अगर | Kavita Saath do Tum Agar

साथ दो तुम अगर ( Saath do tum agar )    साथ दो तुम हमारा अगर, जिन्दगी भर बन हमसफ़र। चाहे वक्त की हो कई मार, बनके रहना कश्ती पतवार।। देना...

गिर के उठनी | Bhojpuri Kavita Gir ke Uthani

" गिर के उठनी " ( Gir ke uthani )   आज उठे के समय हमरा मिलल देख हमरा के कवनो जल उठल खिंच देलक गोंड हमर ऐ तरह...

उठो देश के कर्णधार | Geet Utho Desh ke Karnadhar

उठो देश के कर्णधार ( Utho desh ke karnadhar )    मेरे देश के वीर जवानों, उठो देश के भावी कर्णधार। जिस माटी में जन्म लिया, रखना...