Geet by Dr. Alka Arora -यादें यूँ भी पुरानी चली आई

यादें यूँ भी पुरानी चली आई ( Yaaden Yoon Bhi Purani Chali Aai )     मन की बाते बताये तुम्हें क्या है ये पहली मुहब्बत हमारी भले दिन थे वो गुजरे जमाने मीठी मीठी सी अग्न लगाई   हम तो डरते हैं नजदीक आके जान ले लो – ऐ जान हमारी कब से बैठे … Continue reading Geet by Dr. Alka Arora -यादें यूँ भी पुरानी चली आई