Home विवेचना

विवेचना

नाजुक रिश्ते | Najuk rishtey

नाजुक रिश्ते ( Najuk rishtey )   क्या कभी आप सभी ने देखा है, या महसूस किया है,कभी समझने की कोशिश की है, कि जब एक बहुत...

गुलमोहर | Hindi sahitya ki rachna

गुलमोहर ( Gulmohar ) अगर कोई मुझसे पूछे के एक ऐसी चीज़ जो हमेशा मेरे साथ रही है, तो मैं कहूँगा वो मोहल्ले का पुराना गुलमोहर...

भाग कर प्रेम और विवाह | डॉ.कौशल किशोर श्रीवास्तव की कलम...

भाग कर प्रेम और विवाह ( Bhag kar prem aur vivah )   पत्नि ने मुझसे चिरोरी करते हुए कहा “चलो हम भाग कर शादी कर ले।...

डा0 अलका अरोड़ा के संचालन में हृदयांगन संस्था मुंबई का...

स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर हृदयांगन साहित्यिक एवं सामाजिक संस्था मुंबई ने एक शाम देश के नाम कार्यक्रम 14 अगस्त 2021 को आयोजित...

कथा सम्राट मुंशी प्रेमचंद

कथा सम्राट मुंशी प्रेमचंद (Katha samrat munshi premchand )   उपन्यास और कहानियों का जब भी जिक्र आता है तो सिर्फ एक नाम ही सामने नजर आता...

माँ | Maa

माँ ( Maa )   जिसके होने से मैं खुद को मुकमल मानती हूं, मेरी मां के हर लफ्जों में दुआ है जानती हूँ । ?? मां शब्द जितना खूबसूरत...

भारत मे हिंगलिश का प्रयोग सबसे पहले कब और किसने किया...

हम लोग अपनी बोलचाल की भाषा में कई सारी भाषाओं का प्रयोग करते हैं अधिकतर हिंदी भाषी क्षेत्र के लोग हिंदी के साथ-साथ अंग्रेजी...

लव जिहाद के मामले , क्या फैमिली कोर्ट इस तरह की...

इन दिनों लव जिहाद का मामला भारत के विभिन्न राज्यों में तूल पकड़ रहा है। कई राज्यों में लव जिहाद के बढ़ते मामले को...

अच्छा समाज कैसे हो संभव ?

जब तक हम नहीं सुधरेंगे तब तक एक अच्छे समाज का निर्माण संभव नहीं। जब आप गलत होते हुए भी अच्छा बनने का नाटक...

तारीखें

तारीखें   क्या तारीखें सच में होती हैं ?? समय तो शाश्वत है न!! यह तो तारीखों में बंधा नही फिर तारीखों का क्या काम ?...