Home Authors Posts by Admin

Admin

1283 POSTS 2 COMMENTS

Nazm | मिलन ऐसा भी

मिलन ऐसा भी ( Milan Aisa Bhi )   विरह कीअग्नि में जलती इक प्रेयसी जैसे धरती यह भी निहारे है राह प्रियतम अपने की….   सांवरा सा सलोना सा गहराता सा मचलता सा शायद आ रहा होगा किसी...

Kavita | वृक्ष कहे तुमसे

वृक्ष कहे तुमसे ( Vriksh Kahe Tumse )   मन  में  यदि हो सेवा भाव हर अवसर पर वृक्ष लगाओ वृक्ष  लगाकर  इस धरती को उसकी धरोहर तुम लोटाओ।।   माना  बन ...

Kavita | तेरा दर मुझे लागे प्यारा

तेरा दर मुझे लागे प्यारा ( Tera dar mujhe lage pyara )   दीन दुखियों को तेरा सहारा सजा   मां  दरबार  तुम्हारा सबकी  झोली  भरने  वाली तेरा  दर  मुझे ...

Ghazal | जबसे नजरें मिला के रखा है

जबसे नजरें मिला के रखा है ( Jab se nazre mila ke rakha hai )   जबसे नजरें मिला के रखा है। हाल  कैसी  बना  के रखा है।। बहार ...

Ghazal | दिल नहीं माना कभी कोई ग़ुलामी

दिल नहीं माना कभी कोई ग़ुलामी ( Dil Nahi Mana Kabhi Koi Gulami )     दिल नहीं माना कभी कोई ग़ुलामी। देनी आती ही नहीं हमको सलामी।।   सीधे-सादे हम...

Deshbhakti Kavita | चल चल रे

चल चल रे ( Chal Chal Re )   चल चल रे नोजवान चल चल रे जरा उठ के तू चल उस पथ पे तू चल जहां देश रहा जल...

Ghazal | बने कातिल झुका ली है हया से ये नज़र...

बने कातिल झुका ली है हया से ये नज़र जब से ( Bane katil jhuka li hai haya se ye nazar jab se )     बने  कातिल ...

Kavita | चुनाव क्यों न टले : नेता जी कहें

चुनाव क्यों न टले : नेता जी कहें ( Chunav Kyon Na Tale : Neta JI Kahen )   एक महीने का भाग दौड़, पांच साल मौज ही...

Kavita | कागज की कश्ती

कागज की कश्ती ( Kagaz ki kashti )   कागज की कश्ती होती नन्हे  हाथों  में  पतवार कौन दिशा में जाना हमको जाने वो करतार आस्था विश्वास मन में जाना  है  उस ...

Essay In Hindi | ग्लोबल वार्मिंग

निबंध : ग्लोबल वार्मिंग ( Global Warming : Essay In Hindi ) मानव ही नही संपूर्ण भूमंडल के ऊपर वर्तमान में जलवायु परिवर्तन का खतरा मंडरा...