राउडी राठौर-2 ( हिंदी फिल्म स्क्रिप्ट )

दो दोस्त,जोगी (बाप जी की शक्ल का),और जोगा (मंत्री की शक्ल का), गांव के सारे लोगों को सताते | दोनो कुंवारे, कोई अपनी लड़की नहीं देता | गांव के लोग तंग रहते हैं, किसी की गाय-भैंस, बकरी-बैल छोर कर भगा देता, तो कहीं किसी के गेट पर कील ठोक कर बंद कर भाग जाते |

किसी के खेत मे नुकसान करते,तो किसी के बच्चों को उल्टी-सीधी बात सिखाते | परेशान हो कर सारे गांव ने दोनो को गांव से निकाल दूर भेजने क पक्का किया | हाईवे पर एक ट्रक बाले से बात कर , दोनो को ट्रक में बांध कहीं दूर छोडने को कहा, ड्रयवार को कुछ पैसे दे, रबाना कर, सारे गांव ने चैंन की सांस ली, मस्त आईटम सांग कर, जश्न मनाया ….उधर….ट्रक पर बंधे होनेे पर भी मस्ती करते हैं |

तभी मंत्री का काफिला गुजरा, मंत्री की नजर दोनो पर पड़ी, ड्रयवार से बात कर, अपने आदमियों की मदद से, दोनो को छुडा, अपने फॉर्म हाऊस भिजबाया | दोनो की खातिर-दारी हो रही है , तभी जोगा बाहर गया, तुरंत मंत्री का आना हुआ, जोगी ने जोगा समझ बात की, फिर पता चला, की वो मंत्री है |

जोगा आ कर, जैसे आईना देख रहा है, माजक कर हकीकत बता, बाप जी की फोटो दिखाई , और बापजी की ऐक्टिग करने की कीमत तै की | जोगा को छिपाते हैं |….उधर….शिवा की इंगेज-मेंट है , सजाबट के बीच गाने के साथ, खाना-पीना और ड्रिंक पार्टी मस्ती के साथ शिवा और पारो ने अंगुठी बदली |

DGP.सूरज-प्रकाश,बुके के साथ बधाई दी, कुछ टाइम हुआ, सूरज-प्रकाश के पास फोन आया, सॉक सूरज-प्रकाश ने शिवा से कुछ कहा, निकल गया |….उधर….मंत्री का ऑफिस, सूरज-प्रकाश को (जोगी), यानी बापजी से मिलाया, अच्छा ट्रेंन्ड किया था, DGP सूरज-प्रकाश भी नही पहचान पाया |

अब मंत्री बापजी को देवगढ़ {दूसरा गांव भी ले सकते हैं} ले जा कर, गुंडों के साथ, फिर गरीबों से लगान, दादागिरी, परेशान करना, लड़कियों-औरतों पर जुल्म, बच्चों से काम करबाना और अनाज के गोदाम, शराब की फैक्ट्री आदि फिर से शुरू की, बापजी के साले को, बापजी जिन्दा है, हजम नहीं हो रही थी |

वहीं मंत्री अपने हम-सकल जोगा का भरपूर फायदा उठा कर सारे इनलीगल काम, गांजा, अफीम, चरस, तस्करी,
किडनेपिंग-फिरौती,हांथियार आदि का काम करता | सूरज-प्रकाश ने शिवा से बात की, पारो ने कहा, क्या करेंगे अब ,शिवा बोला,वही,,,,,,चिंताताचिता_चिता,,,,दोनो हंसे |

शिवा की ट्रेन रूकी, शिवा अकेला आया, नए गुंडो ने 2 जी को पानी मे गिरा, हंसने लगे, फिर बाहर निकाल गंज्जा कर ही रहे थे, तभी शिवा ने गुंडो को भी धक्का दे, पानी मे गिरा, सबको पीट, गंज्जा करा स्टेशन मे छोड दिया, शिवा गुंडो से फाइट कर, आगे बढा |.

..उधर….बापजी, मंत्री के साथ बैठा, गुंडा फिरौती की बात कर, 50लाख मांगता है, तभी फिरौती के लिए अगबा किया गया पुलिस वाला सामने | गुंडे ने पीछे मुड मंत्री को बताया, अचानक गुंडा मंत्री के कदमो मे, पीछे शिवा बांह चढ़ाते फाइट कर, आगे बढा, ((शीन…गुंडो को मार कर, एक्सन फाइट कर,पुलिस वाले को छुडाता है |…)) सुधर जाओ कह कर जाने लगा, तभी बापजी के साले ने शिवा को बापजीे पर सक को बताया, नजर रखने बोल, चला गया, मंत्री ने पूँछा, तो बहाना मारा |

अगले दिन विक्रम राठौर की पुन्य तिथी पर मंत्री सहित सब हैं | मंत्री माला पहना, ताली बजाई पुलिस ने सल्यूट किया |….उधर….बापजी क साला, बापजी को गौमूत्र दे रहा था, तभी मंत्री आया, साले को बाहर कर बात की… उधर….मंत्री के साथ शिवा और DGP मंत्रालय जा, शिवा को बापजी के कामों मे टांग न फंसाने कहा,”शिवा बोला—>शिवा अकेला शिवा नहीं, विक्रम राठौर भी है, शिवा को तो रोक दिया, राठौर को कैसे रोकोगे” और मूँछों पर ताव दे निकल गया |

साले का फोन, साले ने बापजी को फोन दिया| मंत्री, ने साइलेंस बात कर शिवा की जानकारी दी, साले ने जो सुना, शिवा को कहा | शिवा ने बापजी और मंत्री की फैक्ट्रियाँ सील की, दोनो गुस्से मे| अगले दिन शिवा हजामत कराता है, तभी मंत्री का कॉल आया, डांटता है, तभी आईने ने मंत्री को देख, पलटा, आवाज बराबर आ रही है, मंत्री किसी और से बात कर रहा था|

फोन काट, मंत्री का रबईया देख अपने साथ ले जा, कॉल करता है, असली से बात हुई, फिर शिवा के जोर देने, थप्पड से सारी हकीकत बताई , पता चला, मंत्री ही खिलाडी है| जोगा को अपने कब्जे मे ले, मंत्री के काले धन्धों पर लगाम कसी |मंत्री ने पारो और बेटी को उठवा लिआ |

बापजी ने शिवा को कॉल कर पारो के बारे में बता धमकाया, शिवा ने बापजी को अकेले मिलने को बुला, बापजी को जेल की पिटाई का वीडिओ दिखाया, नहीं डरा, फिर जोगा को देखते ही सच उगल दिया | शिवा ने नटक जारी रख बताने को मना किया |

मंत्री के पास जा,शिवा ने सारे गुन्डों को धूल चटा सारे गांव के सामने मंत्री की पोल खोल,गांव वालों के हवाले किया,सारे गांव ने मार कर अपना बदला लिया | पारो और बेटी को बचाया | सरे गोरख धन्धे बंद करा, जोगी और जोगा की हकीकत भी बताई, दोनो ने माफी मांगी, 2G को गांव का मुखिया बना जोगी-जोगा को 2G को सौपा, परिवार के साथ फिर वापस हो लिए ||

–> समाप्त <–

फिल्म–> राउडी राठौर-2
लेखक –> सुदीश कुमार सोनी
गीत लेखक –> सुदीश कुमार सोनी
रजि.सदस्य –> 25830
रजि.संख्या–>398844

 

 

लेखक:  सुदीश भारतवासी

मो .9770740776
Email: sudeesh.soni@gmail.com

नोट–> अगर आप इस स्क्रिप्ट पर आप फिल्म बनाना चाहते हैं तो कृपया लेखक से संपर्क करें, और भी Hollywood and Bollywood की scripts,stories & songs तैयार हैं, बिल्कुल नए अन्दाज मे | धन्यवाद ||

यह भी पढ़ें : पुनर्विवाह ( हिंदी फिल्म स्क्रिप्ट )

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here