दूरस्थ दर्शन | Satire in Hindi

दूरस्थ दर्शन ( Doorasth darshan )   दूरदर्शन वालों ने हमें दिखने का हक नही दिया केवल देखने का हक दिया है। उन्हे रंगीन देखने के लिये...

हीरो के भाई का मुंडन | Vyang hero ke bhai ka...

हीरो के भाई का मुंडन ( Hero ke bhai ka mundan ) मैं संगम पर अपना सिर मुंडवा रहा था। मेरे वालिद का इन्तकाल जो हो...

तिलक ब्रिज के कैक्टस | Vyang

तिलक ब्रिज के कैक्टस ( Tilak Bridge Ke Cactus ) साहित्यकार रचना लिख कर केवल रचना दान में पटक कर रखे तो किसी को आपत्ति नही...

देशी प्रोड्यूसर की गांधी | Vyang desi producer ki Gandhi

देशी प्रोड्यूसर की गांधी ( Deshi producer ki Gandhi ) देशी प्रोडयूसर अभी तक पश्चाताप कर रहा है। उसे इस बात को अब तक मलाल है...

बस्ती का अंतर्राष्ट्रीय साहित्यकार | Vyang

बस्ती का अंतर्राष्ट्रीय साहित्यकार ( Basti ka antarrashtriya sahityakar )   पत्नी वीरता पूर्वक साहित्य का सामना करती है। इस वाक्य के कई अर्थ हो सकते है।...

घोड़ों की नीलामी | Vyang

घोड़ों की नीलामी ( Ghodon ki nilami )   हर दिशा के घोड़ो को इकट्ठा किया गया था । उनको हिदायत दी गई थी कि नीलामी स्थल...

अन्तर्राष्ट्रीय गजल गायक | Vyang lekh

अन्तर्राष्ट्रीय गजल गायक   उद्घोषक ने उद्घोषणा की अब हम आपके सामने विश्व के मशहूर गजल गायक को प्रस्तुत करने जा रहे है । वह इसके...

मंत्री की खोपड़ी | Political Vyang

मंत्री की खोपड़ी ( Mantri ki khopdi : Vyang ) मंत्री बनने के बाद प्रेमदास जी ने कभी घर पर खाना नहीं खाया। कभी किसी सरपंच...

Vyang | मरने की तैयारी करो

मरने की तैयारी करो ( Marne ki taiyari karo ) उस्ताद सेम को कुछ दिनों से सीने में दर्द हो रहा है। उनका सीने का दर्द...

साक्ष्य | Hindi Vyang

साक्ष्य ( Sakshya : Hindi Vyang ) महाराज दुष्यंत के युग में वही विधायिका थे, वही कार्यपालिका थे एवं वही न्यायपालिका थे। इस व्यवस्था के कई...