भूल जा सितम उसके प्यार के | Ghazal bhool ja sitam...

भूल जा सितम उसके प्यार के ( Bhool ja sitam uske pyar ke )     हाँ मगर अदू  पर अपनी निगाह रखना तू दिल में ही ज़रा बदला...

तू छेड़ मत | Ghazal tu chhed mat

तू छेड़ मत ( Tu chhed mat )     तू छेड़ मत नहीं है अच्छा मिज़ाज मेरा करता नहीं है कोई ग़म का इलाज मेरा   आटा पिसेगा कैसे अब...

आज उसका निकाह है आज़म | Nikah shayari

आज उसका निकाह है आज़म ( Aaj usaka nikah hai Aazam )     आज उसका  निकाह है आज़म यूं नम  आँखें  निग़ाह है आज़म   लोग  डूबे गरुर में अपने कब...

इश्क़ ए जुनूँ. | Ghazal Ishq – e – Junoon

इश्क़ ए जुनूँ. ( Ishq - e - Junoon )   दिले कैफियत में तुम्हारी खैरियत मिलाए बैठे हैं अपने अर्श में तुम्हारा अक्स मिलाए बैठे हैं क्या हुआ जो आसमाँ का...

तेरे आंसू | Ghazal tere aansu

तेरे आंसू ( Tere Aansu )   दिलो दिमाग में दिन रात रहा करते है। तेरे आंसू मेरी ऑंखों से बहा करते हैं।। टूटने का सबब पत्ते से पूछना...

अपनों ने ज़ख्मों को रोज कुरेदे है | Zakhm shayari

अपनों ने ज़ख्मों को रोज कुरेदे है ( Apno ne zakhmon ko roj kurede hai )     किसने दामन के  ग़म दर्द समेटे है ! अपनों ने ज़ख्मों...

कर मुहब्बत का यहाँ छाया ख़ुदा | Kar muhabbat ka yahan...

कर मुहब्बत का यहाँ छाया ख़ुदा ( Kar muhabbat ka yahan chaya khuda )     मैं पढ़ूं कलमा करुं सज़दा ख़ुदा! जीस्त  भर  हो ऐसा लम्हा ख़ुदा   नफ़रतों की...

दोस्ती में बेवफ़ा है | Ghazal dosti mein bewafa hai

दोस्ती में बेवफ़ा है ( Dosti mein bewafa hai )   कब वफ़ा करता दग़ा है ? दोस्ती में बेवफ़ा है   भूलनी है याद तेरी टूटे दिल की अब सदा...

गमों की मगर वो दवा चाहिये | Shayari gam ki

गमों की मगर वो दवा चाहिये ( Gamon ki magar wo dawa chahiye )     गमों की मगर वो दवा चाहिये यहां कोई ऐसा दुआ चाहिये   बहुत सह लिये...

ऐ वतन | Ghazal ae watan

ऐ वतन ( Ae watan )   ऐ वतन ऐ वतन ऐ वतन रोज हम तो करेगे नमन   हम लड़ेगे वतन के  लिए हाँ रहे ख़ुश सदा ये वतन   शबनमी हो...