Hindi poem on love | इक रोज़ हवा बनकर, तेरी गली...

इक रोज़ हवा बनकर, तेरी गली में आ जाऊंगा ( Ek Roz Hawa Banke Teri Gali Mein Aa Jaunga )   इक रोज़ हवा बनकर, तेरी गली...

Best hindi ghazal| सहारे छोड़ के सारे लिया उसका सहारा है

सहारे छोड़ के सारे लिया उसका सहारा है (Sahare Chhod Ke Sare Liya Uska Sahara Hai)   सहारे  छोड़  के  सारे  लिया  उसका  सहारा है। जहां के साथ...

Hindi Ghazal on love | मुहब्बत की ख़ुशबू से मन भरा...

मुहब्बत की ख़ुशबू से मन भरा है ( Muhabbat KI  Khushboo Se Man Bhara Hai )     मुहब्बत की ख़ुशबू से मन भरा है! गुलाबी फ़ूल मन में...

शीशा-ए-दिल पे जमी है धूल शायद | Ghazal on love

शीशा-ए-दिल पे जमी है धूल शायद ( Shisha-e-Dil Pe Jami Hai Dhool Shayad )   शीशा-ए-दिल पे जमी है धूल शायद। देखने  में  हो  रही  है  भूल शायद।।   आरजू...

दें गयी इश्क़ में मात वो || Hindi ghazal on love

दें गयी इश्क़ में मात वो ( De Gayi Ishq Mein Maat Wo )   दें  गयी  इश्क़  में मात वो कह गयी कुछ ऐसी बात वो   आज वो...

फ़लक से क़मर को उतारा कहाँ है || hindi ghazal on...

फ़लक से क़मर को उतारा कहाँ है ( Falak Se Kamar Ko Utara Kahan Hai )   फ़लक से क़मर को उतारा कहाँ है अभी उसने ख़ुद को...

फूलों का रंग रखिए,बरकरार हमेशा || hindi ghazal on nature

फूलों का रंग रखिए,बरकरार हमेशा ( Phoolon Ka Rang Rakhiye, Barkarar Hamesha )   फूलों  का  रंग  रखिए, बरकरार हमेशा। इस वास्ते गुलशन से करें,प्यार हमेशा।   कौन मौज में...

Ghazal | हमें न ज़ोर हवाओं से आज़माना था

हमें न ज़ोर हवाओं से आज़माना था ( Hame Na Zor Hawaon Se Aazmana Tha )   हमें   न  ज़ोर  हवाओं  से  आज़माना  था वो कच्चा धागा था...

Romantic Ghazal | पी नज़रों के पैमानों में

पी नज़रों के पैमानों में ( Pee Nazron Ke Paimano Mein )   पी  नज़रों  के  पैमानों  में। क्यूं सुख ढूंढे मयखानों में।।   जब दिल में ग़म गुलशन फीका। रौनक ...

Nazm | वो गूंज

वो गूंज ( Woh Goonj )   वो गूंज वो सदा जो उठती है मुझसे   पहुँचती है तुम तलक छूकर कभी नाद करती है कभी नहीं भी   बिखर जाती है बीच खला में खाली सी तरंगे हवा की आजाती है फिर भरने को   शंख ह्रदय का बस इक वही बरसों का स्पंदन, कंपन लिये   धड़कता...