ऑनलाइन स्टडी ( Online Study ) से होने वाले फायदे और नुकसान
ऑनलाइन स्टडी ( Online Study ) से होने वाले फायदे और नुकसान

प्रस्तावना (Introduction) :-

कोरोना वायरस महामारी के प्रसार को रोकने के लिए मार्च 2020 में देशव्यापी लॉकडाउन किया गया। ऐसे में पिछले कुछ महीनों में ऑनलाइन स्टडी को अपनाकर इसका काफी उपयोग किया गया है।

लेकिन इसके अपने फायदे और नुकसान हैं। ऑनलाइन स्टडी सुविधाजनक और आसान संचालन की वजह से लोकप्रिय है। यह आधुनिक डिजिटल युग में शिक्षा का एक नया तरीका है।

इसमें शिक्षक और छात्र इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों जैसे लैपटॉप, स्मार्टफोन, टैब आदि का उपयोग करके एक दूसरे से बातचीत करते हैं और पढ़ाई करते हैं।

ऑनलाइन स्टडी के नुकसान ( Disadvantage of online study in Hindi ) :-

ऑनलाइन स्टडी के कई फायदे हैं लेकिन इसके नुकसान भी हैं। ऑनलाइन स्टडी उन छात्रों के लिए अच्छी नहीं है जो खुद पर नियंत्रण नहीं रखते, ईमानदारी नहीं बरतते आदि।

1.स्वयं पर नियंत्रण –

ऑनलाइन स्टडी के फायदे खुद के आचरण पर अधिक निर्भर करता है। सफलता ज्यादातर खुद के आचरण पर ही निर्भर करती है फिर चाहे वह क्षेत्र कोई भी हो।

ऑनलाइन स्टडी में यह प्रक्रिया ज्यादा बेहतर तरीके से लागू होती है क्योंकि अगर आपका खुद पर नियंत्रण नहीं है और कोई भी चीज सीखने की उत्सुकता नहीं है तो आप ऑनलाइन माध्यम से चीजें आसानी से नहीं सीख सकते हैं।

2. स्वयं के प्रति ईमानदार –

ऑनलाइन कक्षा में कई बार छात्र ऑनलाइन तो रहते हैं लेकिन उनका स्वयं पर नियंत्रण न होने की वजह से भी अपनी पढ़ाई के प्रति ईमानदार नहीं होते हैं। वह कुछ और देखने लगे जाते है। यह खुद पर निर्भर करता है कि आप अपने पढ़ाई के लिए कितने ईमानदार हैं।

ऐसे ही कक्षा में सभी छात्रों पर अध्यापक बराबर ध्यान नहीं दे पाते हैं क्योंकि यह संभव ही नहीं है। ऐसे में छात्र को खुद ही ईमानदारी से पढ़ना होता है, जो ऐसा नहीं करते उनके लिए ऑनलाइन स्टडी कि कोई फायदा नहीं है।

3. एक्स्पोज़र टू स्क्रीन –

ऑनलाइन कक्षाएं इलेक्ट्रॉनिक गैजेट पर होती है। ऐसे में लंबे समय तक 2 से 3 घंटे तक लगातार छात्रों और शिक्षकों को स्क्रीन पर देखना होता है। कई बार इसकी वजह से स्वास्थ्य पर विपरीत प्रभाव पड़ता है। ऐसे में कई छात्रों में सिर दर्द, आंख से जुड़ी समस्याएं भी देखने को मिलती है।

ऑनलाइन स्टडी के फायदे ( Advantage of online study in Hindi ) :-

1.सुविधाजनक –

ऑनलाइन स्टडी छात्रों के साथ-साथ शिक्षकों के लिए भी सुविधाजनक और उपयोगी है। कोरोना वायरस जैसी संक्रामक महामारी के दौर में बिना घर से बाहर निकले शिक्षा की प्रक्रिया सतत रूप से ऑनलाइन स्टडी के माध्यम से ही चल रही है। इसके लिये बस अच्छे इंटरनेट कनेक्शन के साथ एक डिवाइस की  आवश्यकता होती है।

2.सुरक्षित और सस्ता –

ऑनलाइन स्टडी सबसे सुरक्षित विकल्प है। इसमें जोखिम का खतरा बहुत कम रहता है। कोरोना वायरस महामारी के दौर में यह वरदान जैसे है। क्योंकि ऐसे में बाहर निकालना खतरनाक साबित हो सकता है।

इसमें शारीरिक संपर्क में आए बिना नियमित रूप से स्टडी संभव है। ऑनलाइन स्टडी काफी सस्ती है इसके लिए स्कूल जाने आने के लिए ट्रांसपोर्ट पर होने वाले खर्च की भी आवश्यकता नही होती।

इसमें स्कूल के कई अन्य दूसरे खर्चा भी नही होते हैं। यहां पर बस इंटरनेट कनेक्शन के पैसे खर्च करने होते हैं और डिजिटल माध्यम में किताबें और लगभग जरूरत की हर किताब मिल जाती है।

3. पेपर का कम इस्तेमाल –

ऑनलाइन स्टडी में कागजों का इस्तेमाल बहुत ही सीमित होता है। डिजिटल सिस्टम में पेपर का उपयोग न के बराबर किया जाता है। छात्रों को पेपर में नोट करना रहता है वहीं शिक्षक बिना किसी पेपर के पढ़ा सकते हैं।

निष्कर्ष (The conclusion) :

ऑनलाइन शिक्षा का माध्यम शिक्षा और तकनीकी का संयुक्त रूप है। इसमें नई तकनीक के माध्यम से हम शिक्षा का लाभ कैसे उठा सकते हैं यह पता चलता है।

हालांकि इसमें विकास और सुधार के लिए काफी संभावना है, जिसके लिए अभी बहुत प्रयास करने की जरूरत है। शिक्षा के क्षेत्र में ऑनलाइन स्टडी एक क्रांतिकारी कदम जैसा है जो पहले कभी नहीं हुआ था।

लेखिका : अर्चना  यादव

यह भी पढ़ें : 

Essay In Hindi | महिला सशक्तिकरण (Women Empowerment) पर निबंध

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here