"होली के रंग भोजपुरी के संग" काव्यमय होली मिलनोत्सव

“होली के रंग भोजपुरी के संग” काव्यमय होली मिलनोत्सव

होली और ‘अंतरराष्ट्रीय खुशी दिवस’ के पावन पर्व का स्वागत करने के लिए “अंतरराष्ट्रीय साहित्य संगम” (साहित्यिक एवं सांस्कृतिक संस्था) की ओर से 20 मार्च, रविवार को सायं 5 बजे से एक काव्यमय होली मिलनोत्सव का आयोजन किया गया।

विश्व स्तर पर भोजपुरी की महत्ता को देखते हुए “होली के रंग भोजपुरी के संग” के तहत आयोजित इस कार्यक्रम की अध्यक्षता संस्था के अध्यक्ष श्री देवेन्द्र नाथ शुक्ल ने की एवं संस्था के संस्थापक व महासचिव डॉ. मुन्ना लाल प्रसाद ने भोजपुरी में ही इसका कुशल संचालन किया।

गूगल मीट के माध्यम से आयोजित इस अंतरराष्ट्रीय कवि सम्मेलन में मुख्य अतिथि के रूप में प्रो. डॉ. विवेक मणि त्रिपाठी, सहायक प्रोफेसर, दक्षिण एशियाई भाषा व संस्कृति विभाग, क्वांगतोंग विदेशी भाषा विश्वविद्यालय चीन एवं विशिष्ट अतिथि के रूप में श्रीमती मंजुला ठाकुर, मेलबर्न, आस्ट्रेलिया, डॉ. लतिका रानी, सिंगापुर और डॉ. जाह्नवी पांडेय, लोकगायिका, आकाशवाणी व दूरदर्शन, लखनऊ उपस्थित थें। सुश्री कीर्ति गुप्ता एवं साथी दुर्गापुर (प.बं.) के उद्घाटन नृत्य से यह कार्यक्रम आरंभ हुआ एवं विशेषता यह रही कि इस कवि सम्मेलन में देश-विदेश के भोजपुरी के लोकगायकों एवं कवियों ने भाग लिया।

कार्यक्रम में शामिल वरिष्ठ साहित्यकारा प्रो. डॉ अलका अरोडा जी देहरादून से , डॉ. विवेक मणि त्रिपाठी, क्वांगतोंग, चीन, श्रीमती मंजुला ठाकुर, मेलबर्न, आस्ट्रेलिया, डॉ. लतिका रानी, सिंगापुर, श्री जय प्रकाश अग्रवाल, नेपाल, प्रो. डॉ. प्रवीण मणि त्रिपाठी, रामेश्वरम शिक्षण संस्थान लखनऊ,, डॉ. जाह्नवी पांडेय, लोकगायिका, आकाशवाणी व दूरदर्शन, लखनऊ, प्रो. सुभाष चंद्र यादव, गोरखपुर, श्री मनोज कुमार वर्मा, सीवान, श्री विनय शर्मा दीप, थाने, मुंबई, श्रीमती विद्युत प्रभा चतुर्वेदी ‘मंजु’, देहरादून, डॉ. भीखी प्रसाद ‘वीरेन्द्र’, डॉ. ओम प्रकाश पांडेय, सिलीगुड़ी, श्री शारदा प्रसाद दुबे, ‘शरतचंद्र’ थाने, मुंबई, श्रीमती पूजा अग्रवाल, मुजफ्फरनगर, श्री संतोष कुमार साह, दुर्गापुर, श्री मुकेश कुमार ठाकुर, कालिंपोंग, स्नेह लता शर्मा, लखनऊ, डॉ. कमलेश शुक्ला ‘कीर्ति‘, कानपुर ने अपने गीतों, गजलों एवं विविध रचनाओं को प्रस्तुत कर दर्शकों का मन मोह लिया।

यह भी पढ़ें :-

आनंदम टाउनसिप में बरसा काव्य रंग

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here