Rajasthan diwas special kavita
Rajasthan diwas special kavita

आओ म्हारा राजस्थान मं

( Aao mhara Rajasthan ma )

 

रंग रंगीलो प्यारो म्हारो
धोरा रो राजस्थान
वीरा री आ धरती
मीठां मोरां रो राजस्थान

 

मरुधरा हेत घणो उमड़ै
ईं धोरा री मुस्कान मं
पलक पांवड़ा राह बिछावा
आओ म्हारा राजस्थान मं

 

राणा सांगा कुंभा जनम्या
राणा प्रताप री आन अठै
जौहर री ज्वाला में कूदी
पद्मिनी रजपूती शान जठै

 

भामाशाह री भूमि म्हारी
गांवां चेतक रो गुणगान
तलवारां रो गौरवगान
आओ म्हारा राजस्थान

 

पन्ना रो बलिदान अमर
मीरा रो भक्ति गान अमर
शूरवीर रणवीर बांकुरां
हाड़ा रानी री शान अमर

 

ई धरती में हीरा निपज्या
कितो करां गुणगान
हिवड़े हेत निभाणों जाणै
आओ म्हारा राजस्थान

 

शेखावाटी री शान घणीं
मान घणों मनुवार घणी
गणगोरया घूमर घालै
तीज त्यौहार बणी ठणी

 

गलता पुष्कर तीर्थ न्हाल्यो
गुलाबी नगरी आलीशान
बीकानेर जोधपुर घूमो
आओ म्हारा राजस्थान

 

बाजरो काकड़िया निपजै
चालो म्हारा खेत मं
काकड़ी मतीरा खास्यां
आपां ठंडी बाळू रेत मं

 

कुआ बावड़ी दुर्ग देखल्यो
म्हारा रजवाड़ा री शान
छाछ राबड़ी बैठ जिमास्यां
आओ म्हारा राजस्थान

 

मरुधरा हेत घणों उमडै
धोरां री मुस्कान मं
पलक पांवड़ा राह बिछावां
आओ म्हारा राजस्थान मं

 

राजस्थान दिवस पर हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं

 ?

कवि : रमाकांत सोनी सुदर्शन

नवलगढ़ जिला झुंझुनू

( राजस्थान )

यह भी पढ़ें :-

कान्हा प्यारी छवि तेरी | Kanha kavita

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here