तेरी ये बातें
तेरी ये बातें

तेरी ये बातें ( हाइकु )

 

1

तेरी ये बातें

है झुठे सनम ये

तेरे वो वादे

 

2

 

देखी है रोज़

मैंनें तो ए  सनम

तेरी ही राहें

 

3

 

दिया है दग़ा

प्यार में ही निकली

दिल से आहें

 

4

 

गुम कहीं वो

ढूंढ़ती है उसको

रात दिन आंखें

 

5

 

आती है अब

रुलाने को आज़म

उसकी यादें

 

 

✏

शायर: आज़म नैय्यर

(सहारनपुर )

यह भी पढ़ें : 

हर घड़ी ग़म तेरे उठाने है

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here