नवलगढ़।स्वर्णकार समाज के आदि पुरूष महाराजा अजमीढ़ देव मन्दिर के स्थापना दिवस पर 75 प्रतिभाओं का सम्मान किया गया जिसमें झुंझुनूं जिले के 15 प्रतिभागियों को सम्मानित किया गया।

गुढ़ागौड़जी अध्यक्ष ओमप्रकाश सोनी ने बताया कि दक्षिणामुखी बालाजी मंदिर हाथोज महंत बालमुकुन्दाचार्य के सानिध्य में हुए समारोह की अध्यक्षता मैढ़ क्षत्रिय स्वर्णकार समाज के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगदीश प्रसाद मायछ ने की।

विशिष्ट अतिथि झुंझुनूं डाक अधीक्षक रामावतार सोनी,देवस्थान विभाग के गौरव सोनी,श्रीराम भामा बड़ागांव, सांवरमल डांवर,समुद्रसिंह कचेरा,जवाहरलाल सुगन्ध,कैलाशचंद्र भामा रहे।

संस्थापक प्रभुदयाल डांवर व ट्रस्ट अध्यक्ष नरेश नारनोली,महावीर प्रसाद जाटावत ने अतिथियों का सम्मान किया।समारोह में पहली बेटी को जन्म देने वाली मातृ शक्तियों व बोर्ड परीक्षाओं में 75 प्रतिशत से अधिक अंक प्राप्त करने वाले 75 प्रतिभावान विद्यार्थियों को पिलानी के समुद्रसिंह कचेरा द्वारा दुपट्टा ओढ़ाकर,प्रतीक चिन्ह व प्रमाण पत्र देकर सम्मान किया गया।

साथ ही सर्वाधिक अंक प्राप्त करने वाले गौरव लावट को 15 सौ तथा दूसरे स्थान पर रहने वाले आनन्द सोनी को एक हजार रुपए का नकद पुरस्कार भी दिया गया।

सत्यनारायण मौसूण ने एक लाख रुपए का सहयोग दिया वही तेजप्रकाश मांडण ने एयर कंडीशनर देने व ज्ञानप्रकाश बंसल ने 5 लाख की लागत से मन्दिर परिसर में एक कमरा बनाने की घोषणा की।

इससे पूर्व रात्रि को कवि सम्मेलन हुआ जिसमें कामां भरतपुर के कैलाशचंद्र सोनी,नवलगढ़ के रमाकांत सोनी,तेजसिंह राठौड़, मुकेश मारवाड़ी व हरेंद्र त्यागी ने अपनी कविताओं के माध्यम से दर्शकों को खूब हंसाया।ततपश्चात भजनों का कार्यक्रम हुआ।

जिसमें अनेक स्थानों से आए कलाकारों ने प्रस्तुतियां दी।संचालन कैलाशचंद्र सारड़ीवाल व मनोज रोडा ने किया।

इस दौरान भगवतीप्रसाद लाम्बा, गणपतराय बेराडिया,सुभाष कड़ेल,मधुराम पिलानी, विजय कुमार, बीरबलराम,पुरुषोतमलाल सीगड़,,राकेश कड़ेल,रामगोपाल डुमरा,सुभाषचंद्र डांवर,सुरेंद्र सुनालिया,सचिन सोनी,सुरेश सोनी आदि मौजूद रहे।

 

यह भी पढ़ें :- 

नवलगढ़ के साहित्यकार कवि रमाकांत सोनी की कृति काव्य के स्वर्णिम अक्षर शीघ्र ही प्रकाशित

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here