क्या दिल में बसा जग को दिखा क्यूं नहीं देते

क्या दिल में बसा जग को दिखा क्यूं नहीं देते   क्या दिल में बसा जग को दिखा क्यूं नहीं देते। जज्बात बयां करके बता क्यूं नहीं...

और हिन्दी

और हिन्दी   संस्कृत प्राकृत से पाली स्वरूप धरि, अब देवनागरी कहावति है हिंदी। छत्तीस रागिनियों के बारह सुर गाइ गाइ, चारि मिश्रित वर्ण सुहावति है हिन्दी।।   आगम -निगम के...

हिंदी हमारी

हिंदी हमारी   तुलसी की वाणी रामायण हैं हिंदी रसखान जी के  दोहे है हिंदी मीरा सा प्रेम कृष्ण नाम है हिंदी भारतेंदु की आत्मा है हिंदी दिनकर जी की...

मातृभाषा को समर्पित

मातृभाषा को समर्पित ***** ( विश्व हिंदी दिवस पर )   हे विश्व विभूषित भाषाहिंदी, संस्कृत से जन्म जो पाई, महिमा महान जग छाई।। शुत्र चतुर्दश माहेश्वर के, शिव डमरू से...

यही जीवन है!

यही जीवन है! ***** जीवन पथ में कभी कभी कुछ ऐसा होता है रोम रोम क्षण में पुलकित होता है। धूम धड़ाका पार्टी शार्टी गाजे बाजे संग बाराती प्रीतिभोज की होती...

हिंदी हम को प्यारी है

हिंदी हम को प्यारी है   हिंदी हमको प्यारी है, हर भाषा से न्यारी है। तन मन धन सब मेरा, यह तो जान हमारी है।।   मां की ममता...

कहने को नया साल है

कहने को नया साल है   कहने को नया साल है, मेरा तो वही हाल है। वही दिन महीने वही खाने-पीने वही मरना जीना जिंदगी का जहर पीना वही जी...

अमेरिका में यह क्या हो गया?

अमेरिका में यह क्या हो गया? *********   एक झटके में खो दिया प्रतिष्ठा पुरानी, याद करो सन् 1489 वाली लोकतंत्र की कहानी। जार्ज वाशिंगटन ने रखी थी जिसकी नींव, जड़ें जिसकी गहरी...

इधर भी उधर भी

इधर भी उधर भी ****** सब सम सा हो रहा है, लिए पताका कोई व्हाइट हाउस- तो कोई मस्जिद पर चढ़ रहा है। देता था जो दुनिया को जनतंत्र...

कलम का जादू चलाओ

कलम का जादू चलाओ लिखने वालों कलम उठाओ लो तेरी सख्त जरूरत है बदलनी देश की सूरत है गर रहे अभी मौन सोचो आगे संभालेगा कौन? नवजवानों किसानों आमजन की खातिर लिखो,...