प्यार इंसान की हसरतें देखिए
प्यार इंसान की हसरतें देखिए

प्यार इंसान की हसरतें देखिए

( Pyar Insan Ki Hasraten Dekhie )

 

 

प्यार  इंसान  की  हसरतें देखिए!

कुछ लोगों में मगर नफ़रतें देखिए

 

कोई रखता मुहब्बत रक्खे नफरतें

एक  जैसी  किसमें आदतें देखिए

 

हां यकीं मत ज़ुबां पे करो उसकी ही

रोज़  जो  बदले है फ़ितरतें देखिए

 

ऐसा लूटा है दामन ख़ुशी फ़ूलों से

खो गयी दिल की सब राहतें देखिए

 

मत जाना इन राहों पे कभी तू नहीं

है  बुरी  सी  आज़म  संगतें देखिए

 

 

❣️

शायर: आज़म नैय्यर

(सहारनपुर )

यह भी पढ़ें : –

Sad Ghazal | Amazing Urdu poetry -जिंदगी से ही ढ़ली ऐसी ख़ुशी है

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here