रंग समेटे हुए रंगीन नजारे, कितने सुंदर हैं
रंग समेटे हुए रंगीन नजारे, कितने सुंदर हैं

❤️💜💛 “रंग” 💙❤️💚

❤️

–>रंग समेटे हुए रंगीन नजारे, कितने सुंदर हैं ||

💚

1.रंगों से भरी रंगीन दुनियां, अत्यंत ही सुंदर है |

जीवन मे सारे रंग भरे, लबालब भरा समंदर है |

इन्द्रधनुष जो बिना रंग के, होता तो कैसा होता |

ना होती रंगीन धरा तो, सोचो क्या जीवन होता |

💜

–>रंग समेटे हुए रंगीन नजारे, कितने सुंदर हैं ||

❤️

2.जंगल हरे-भरे रहते हैं, उस पर रंग-बिरंगे पंक्षी |

चिडियों का रंगीन कोलाहल, लगती है धुन अच्छी |

इन्द्रधनुष के सात रंग हैं, बै-जा-नी-ह-पी-ना-ला |

छिटक जाए आसमान मे, लगता है कितना प्यारा |

💛

–>रंग समेटे हुए रंगीन नजारे, कितने सुंदर हैं ||

❤️

3.भिन्न-भिन्न रंगीन मछलियां, मगरमच्छ मतबाला |

रंगीन समन्दर की दुनियां है, भरपूर खजाने बाला |

पत्थर की रंगीन प्रजाती, कोई मन्दिर कोई घाट में |

कोई सजा घर-महलों मे, रंगीन छठा के साथ में |

💚

–>रंग समेटे हुए रंगीन नजारे, कितने सुंदर हैं ||

💜

4.रंग-बिरंगे फूल खिले, उडती तितली रंग-बिरंगी |

खुल के भरे हैं रंग मोर मे, नाचे तो लगता फिरंगी |

लाल-गुलाबी-नीला-पीला, होली मे खेले जाते हैं |

संग मिल जाता रंग-भंग का, झूम-झूम लहराते हैं |

💛

–>रंग समेटे हुए रंगीन नजारे, कितने सुंदर हैं ||

❤️

कवि :  सुदीश भारतवासी

 

 

यह भी पढ़ें : 🌸 “आईना” 🌸

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here