एंटीबायोटिक से बचें
एंटीबायोटिक से बचें

 

एंटीबायोटिक से बचें
*******

शहद को एंटीबायोटिक से ज्यादा बेहतर बताया गया है,
आक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के विद्वानों ने
इसका खुलासा किया है।
यदि सर्दी खांसी ज़ुकाम हो!
तो एंटीबायोटिक के बदले बुजुर्गो के सुझाए,
सदियों पुराने नुस्खे ही आजमाएं ‌।
जी हां, जी हां सही समझा आपने,
शहद का ही इस्तेमाल करें।
दिन में एक चम्मच दो बार शहद,
सर्दी ज़ुकाम सीने की जकड़न में कारगर है बेहद।
शोधकर्ताओं ने ,
श्वसन संक्रमण के इलाज में-
शहद और एंटीबायोटिक के असर का
तुलनात्मक अध्ययन किया है,
14 शोध-पत्रों के विश्लेषणोपरांत इसका खुलासा किया है।
विद्वानों ने यह भी साबित किया कि शहद- कफ सिरप,एंटीहिस्टामीन और दर्द निवारक दवाओं से बेहतर है,
एंटीबायोटिक से कई गुना ज्यादा कारगर है।
इससे मरीजों को,
नींद,सुस्ती,बेचैनी जैसे साईड इफेक्ट भी नहीं झेलने पड़ते हैं।
खुशी की बात ये है कि बच्चे भी-
आसानी से शहद ले लेते हैं,
हंसते खाते खेलते खा लेते हैं।
दादी के नुस्खे ने एक बार फिर किया कमाल,
आक्सफोर्ड के शोध-पत्र पढ़ हुए हम निहाल।

 

🍁

नवाब मंजूर

लेखक-मो.मंजूर आलम उर्फ नवाब मंजूर

सलेमपुर, छपरा, बिहार ।

 

यह भी पढ़ें : साहसी राष्ट्रपति मार्सेलो

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here