रक्त पीना : मच्छरों की शौक या मजबूरी | Machchhar par...

रक्त पीना : मच्छरों की शौक या मजबूरी? ******* ये हम सभी जानते हैं, मच्छर खून पीते हैं। डेंगी , मलेरिया फैलाते हैं, सब अक्सर सोचते हैं! ये ऐसा करते...

हरि अब दर्शन दो | Poem hari ab darshan do

हरि अब दर्शन दो  ( Hari ab darshan do ) ***** ओ री हरि, अब दर्शन दो री। कलयुग में- मति गई मारी, क्या राजा? क्या भिखारी? जगत पापी से भरी, भगत पापी...

अज़ान | Poem on Azaan in Hindi

अज़ान ( Azaan ) *****   मोमिनों की शान खुदा का फरमान बुलावे की कलाम होती पांच वक्त अज़ान। जब हो जाए नमाज़-ए-वक्त, मुअज्जिन लगाते- आवाज़ -ए- हक़। सुन नमाज़ी दौड़ पड़ते- मस्जिदों की ओर, कुछ नहीं...

सुण पगली | Poem soon pagli

सुण पगली ( Soon pagli )    सुण पागली.....! तनै तो कुछेक दिनां म्हे ही मेरा क़रार लूट लिया तेरी नजरां नै मेरा चैन छीन लिया तेरी मीठी मीठी बातां नै मेरे दिल का...

दी ग्रेट कपिल शर्मा | Kapil Sharma par kavita

दी ग्रेट कपिल शर्मा ( The great Kapil Sharma )   --> कपिल कपिल नहीं, हंसी का फब्बारा है |?| 1.दी कपिल शर्मा टी.वी.शो, लाफिंग गैस का गुब्बारा...

शिंजो अबे का इस्तीफा

शिंजो अबे का इस्तीफा *****   कोरोना के बीच जापानी प्रधानमंत्री ने इस्तीफे की घोषणा की है, सुन जापानियों में एक हलचल सी मची है। शेयर बाजार धराशाई हो गया, एक स्थिर सरकार...

आओ पेड़ लगाएं हम | Paryawaran par kavita

आओ पेड़ लगाएं हम ***** आओ पेड़ लगाएं हम, चहुंओर दिखे वन ही वन।निखर जाए वातावरण, स्वच्छ हो जाए पर्यावरण।बहें नदियां निर्मल कल-कल, बेहतर हो जाए वायुमंडल।नाचे मयूर होकर...

गुरु की महिमा ( दोहे ) | Guru ki mahima

गुरु की महिमा ( दोहे ) ***** १. गुरु चरणन की धुलि,सदा रखो सिरमौर आफत बिपत नाहिं कभी,आवैगी तेरी ओर।२. गुरु ज्ञान की होवें गंगा,गोता लगा हो चंगा बिन ज्ञान...

शहरों की हकीकत | Poem on city in Hindi

शहरों की हकीकत! ***** जेठ की दुपहरी प्रचंड गर्मी थी पड़ रही लगी प्यास थी बड़ी निकला ढ़ूंढ़ने सोता पर यह शहरों में कहां होता? भटका इधर उधर व्याकुल होकर दिखा न कहीं...

मदांध हो ना करें कोई चर्चा | Charcha par kavita

मदांध हो ना करें कोई चर्चा ! ***** चर्चा की जब भी हो शुरुआत, टाॅपिक हो कुछ खास । समसामयिक मुद्दे हों या हो इतिहास/विज्ञान की बात! बारी बारी से...