कृपा करो माँ पार्वती
कृपा करो माँ पार्वती

कृपा करो माँ पार्वती

 

(दुर्गा-अष्टमी पर विशेष)

 

कृपा करो माँ पार्वती।
संहार , पालन, रचने वाली, तुम्ही तो हो आदिशक्ति।।

 

लाल चुनरिया ओढ सिंह पर, चढी भक्तों का मन हरती।
खङग, चक्र , त्रिशूल, गदा ले, दुष्टों का मर्दन करती।।

 

सिद्धि मोक्ष-सुख देने वाली, भक्त-वत्सल ममता की मूर्ति।
बिना तुम्हारे शिव भी अधूरे, तव कृपा बिन कैसी भक्ति ।।

 

ऋषि,मुनि, देवगण ‘ पूजित, पार ना पाते कहते ‘ नेति’।
पूर्ण ब्रह्म स्वरूपिणी वर दे, “कुमार” को निज चरण-रति।।

 

🔱

                           🔱

 

कवि व शायर: Ⓜ मुनीश कुमार “कुमार”
(हिंदी लैक्चरर )
GSS School ढाठरथ
जींद (हरियाणा)

यह भी पढ़ें : 

यहां रह जाती यादें बाकि

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here