Raktdan par kavita
Raktdan par kavita

रक्तदान

( Raktdan )

मनहरण घनाक्षरी

 

रक्तदान महादान,
देता है जीवन दान।
जीवन बचाएं हम,
रक्तदान कीजिए।

 

आओ बचाएं सबका,
जीवन अनमोल है।
मानव धर्म हमारा,
पुण्य कार्य कीजिए।

 

सांसो की डोर बचाले,
जोड़े रक्त का नाता भी।
जरूरतमंद कोई,
रक्त दान दीजिए।

 

किस्मत संवर जाती,
भाग्य के खुलते द्वार।
परोपकार का काम,
देरी मत कीजिए।

 

?

कवि : रमाकांत सोनी सुदर्शन

नवलगढ़ जिला झुंझुनू

( राजस्थान )

यह भी पढ़ें :- 

हवा का झोंका | Hawa ka jhonka | Kavita

 

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here