शाबाश कतर !
शाबाश कतर !

शाबाश कतर !
*****

बड़े प्रभावी ढंग से कतर ने-
कोविड-19 का मुकाबला किया है,
एक जबरदस्त कामयाबी हासिल किया है।
त्वरित पहचान व रोकथाम शुरू किया,
प्रभावित समूहों को शीघ्र अलग किया;
इसी ने उसे बेहतर रिजल्ट दिया ।
वहां 29 फरवरी को पहला मामला आया,
लगभग 667936 लोगों को जांचा गया।
120000 संक्रमित पाए गए,
117000 ठीक हो गए।
मात्र 205 की मृत्यु हुई,
इसकी दर बहुत ही कम रही।
इसका श्रेय स्वास्थ्य विभाग को जाता है,
यह कामयाबी!
कतर की तैयारी-
साहस और आत्मविश्वास को दर्शाता है।
खोल दिए हैं उसने सभी कारोबार- हवाईयात्रा व शिक्षण संस्थान संस्थान,
लेकिन संक्रमण पर अभी भी दे रहा ध्यान।
सभी शिक्षकों और कर्मचारियों की जांच की-
यह भी एक खास बात थी।
बच्चों का भी औचक परीक्षण किया जा रहा है,
साथ ही जरूरी निर्देश दिया जा रहा है।
इससे कोविड-19 की अगली लहर कम होगी,
जो वाकई देखने वाली बात होगी।
कतर ने इस महामारी के दौरान-
दुनिया के साथ एकजुटता भी दिखाई,
चिकित्सा सुविधाओं के साथ जरूरतमंद देशों को अस्थाई अस्पताल पहुंचाई।
वैक्सिन के लिए भी 14 करोड़ डॉलर की आर्थिक सहायता दी है,
डब्लूएचओ के प्रयासों की सराहना की है;
दुनिया भर से कतर को वाहवाही मिली है।
शाबाश कतर!
तूने कर दिखाया,
कोरोना को हराने में कामयाबी पाया!
तुझे सलाम है,
इंसानी खिदमत में तेरा आला मक़ाम है।

 

🍁

नवाब मंजूर

लेखक– मो.मंजूर आलम उर्फ नवाब मंजूर

सलेमपुर, छपरा, बिहार ।

यह भी पढ़ें :

अनकही बातें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here