Home कविताएँ

कविताएँ

°°° 2020, Only Save Life °°°

°°° 2020, Only Save Life  °°° ->हाँ ये साल 2020, सिर्फ जीवन बचाने को है || 1.लाखों बेघर, करोडों रोड पर, बस घर जाने को है...

🌿 ऐसा हो संसार जहाँ पर 🌿

🌿  ऐसा हो संसार जहाँ पर  🌿 आओ मिलकर करें कल्पना हम ऐसे संसार की। जहाँ भावना त्याग समर्पण प्रेम और उपकार की।। 🌼 ऐसा हो संसार जहाँ...

🦜 नन्ही चिड़िया की सीख 🦜

🦜 नन्ही चिड़िया की सीख 🦜   ...नन्ही चिड़िया की सीख..........|| 1. नन्ही-मुन्ही,नीली-पीली,लाल-गुलाबी,सतरंगी | चिडिया उडती डाल-डाल पर,पंख फैलाए बहुरंगी | पत्ती-पत्ती,बूटा-बूटा,सब स्वागत उसका करते हैं | नन्ही चिडिया को...

🔥 वो मजदूर है 🔥

🔥 वो मजदूर है 🔥 अरे! वो मजदूर हैं इसीलिये तो वो मजबूर हैं उनकी मजबूरी किसी ने न जानी मीलों का सफर तय किया पीकर पानी। पांव में...

🌸 माना कि तुम 🌸

🌸  माना कि तुम  🌸 माना कि इन हाथों की लकीरों में तुम नहीं....…..... फिर भी मुझमें तुम शामिल हो, 🌸 लकीरें तो उनके हाथ में भी नहीं होती जिनके हाथ नहीं होते। तुम...

🍁 समय चुराएं 🍁

🍁 समय चुराएं 🍁 आओ ... समय से कुछ समय चुराएं शुन्य के सागर में गुम हो जाएं 🌸 बीती बातों का हिसाब करें आने वाले पलों का इंतज़ार करें भूली...

👏 हे सरकार ! कुछ तो करो 👏

  👏 हे सरकार ! कुछ तो करो 👏 🌿 हे सरकार! कुछ तो करो क्यूँ छोड़ दिया मरने को सड़कों और पटरियों पर दर-दर की ठोकरें खाने को खाने...

😠 हम मजबूर हैं  😠

😠 हम मजबूर हैं  😠 साहब! हम मजदूर हैं इसीलिए तो मजबूर हैं सिर पर बोझा रख कर खाली पेट,पानी पीकर हजारों मील घर से दूर गोद में बच्चों को...

🌷 मुझे आज भी याद है 🌷

🌷 मुझे आज भी याद है 🌷 मुझे आज भी याद है वो कमरा जहाँ........ आखिरी बार मिले थे हम आज भी गवाह है, वो बिस्तर की चादर वो कम्बल....... जिसमें...

🌸 मदर्स डे 🌸

  🌸 मदर्स डे 🌸 मां अपने बच्चों से रूठती ही कब है बच्चे भले ही रुठ जाएं पर, मां क्या कभी रूठती है? 🍀 #मदर्स डे साहब!आजकल कौन मना रहे...