Home कविताएँ

कविताएँ

कैसे-कैसे लोग

कैसे-कैसे लोग ( Kaise-Kaise Log )     अक्ल के कितने अंधे लोग। करते क्या-क्या धंधे लोग।   मासूमों के खून से खेले, काम भी करते गंदे लोग।   रौब जमा के अबलाओं पर, बनते...

बावरा मन

बावरा मन ( Bawara Man )     बावरा   मन   मेरा,  हर  पल  ढूंढे   तुमको। नैना द्वारे को  निहारे, एकटक देखे  तुमको।   प्रीत  कहते  है  इसे, या  कि कोई रोग...

नारी

नारी ( Nari Kavita )   नर से धीर है नारी ... घर में दबी बेचारी , कभी बेटी कभी बहू बने , कभी सास बन खूब तने, एक ही जीवन...

रहे तन-मन सदा अपना वतन के वास्ते जग में

रहे तन-मन सदा अपना वतन के वास्ते जग में ( Rahe Tan-Man Sada Apana Watan Ke Waste Jag Mein )   रहे  तन-मन  सदा अपनावतन के वास्ते...

भारत का गौरव

भारत का गौरव ( Bharat Ka Gaurav )     राम तेरे आर्याव्रत अब, शस्त्र नही ना शास्त्र दिखे। धर्म सनातन विघटित होकर,मात्र अंहिसा जाप करे।   शस्त्रों की पूजा करते...

नार परायी

नार परायी ( Naar Parai )     मिले हम मिले नही पर, मन से साथ रहेगे हम। नदी के दो किनारे से पर, मन से साथ रहेगे हम। मिलन...

सहारा

सहारा (Sahara )   सहारा किसका ढूँढ रहा है कि जब, श्रीनाथ है नाव खेवईया। रख उन पर विश्वास भवों से, वो ही पार लगईया॥ सहारा किसका…. * कर्म रथी बन धर्म पे...

डॉ. अलका अरोडा के दोहे

डॉ. अलका अरोडा के दोहे ( Dr. Alka Arora Ke Dohe ) ******   १)   काँटे बोना छोड़ दो, चलो प्रीत की राह। सुख पाओगे विश्व में, मिट जाए हर...

प्रतिघात

प्रतिघात ( Pratighaat )   लिख दिया मस्तक पटल पर, वाद का प्रतिवाद होगा। बन्द  दरवाजे  के  पीछे, अब  ना  कुछ संवाद  होगा। जो भी कहना है  मुझे  कह...

ये आंसू के अक्षर हैं दिखाई नहीं देते

ये आंसू के अक्षर हैं दिखाई नहीं देते ( Ye Aansoo Ke Akshar Hai Dikhai Nahi Dete )     देते हैं दर्द मगर दवाई नहीं देते। एक बार...