जगतगुरु आदि शंकराचार्य
जगतगुरु आदि शंकराचार्य

जगतगुरु आदि शंकराचार्य

( Jagadguru Adi Shankaracharya ) 

 

धर्म और संप्रदाय पर जब था अंधकार का साया,

 तब केरल के कालडी़ मैं जन्मे महान संत|

8 वर्ष की उम्र में सन्यासी बने सबको दिया ज्ञान,

 कई ग्रंथ  रचकर  दिया सबको परम ज्ञान|

सनातन धर्म स्थापित किया,

अद्वैत चिंतन को पुनर्जीवित करके सनातन हिंदू धर्म का निर्माण किया|

 बिखरे भारतवर्ष को अध्यात्म मार्ग पर जोड़ा,

पूरब पश्चिम उत्तर दक्षिण को चार मठों में जोड़ा|

 कई ग्रंथ लिखकर समाज को जागृत किया,

 सभी को अद्वैत वेदांत का दर्शन कराया|

 कम आयु में महान कार्य किए,  धर्म सनातन का उत्थान किया|

 धन्य हुई धरती धन्य हुआ भारतवर्ष, भारतवासी कृतार्थ हुए|

🍀

लेखक– बिसे लाल ( सहायक शिक्षक )
शासकीय प्राथमिक शाला मेंड्रा
विकासखंड खड़गवां
जिला कोरिया (छ.ग.)

यह भी पढ़ें : –

Kavita | भारत रत्न भीमराव अंबेडकर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here