किया दिल पे जादू तेरी सादगी ने
किया दिल पे जादू तेरी सादगी ने

किया दिल पे जादू तेरी सादगी ने

( kiya Dil Pe Jadoo Teri Sadgi Ne )

 

किया दिल पे जादू तेरी सादगी ने।
दिवाना बनाया तेरी आशिकी ने।।

 

खुदा से भी बढ़कर है चाहा तुझी को।
बनाया है काफिर तेरी बंदगी ने।।

 

जिसे दिल से चाहा था हमने यहां पर।
मेरा दिल ये तोङा हमेशा उसी ने।।

 

किया दूर सबसे न मेरे हुए वो।
कहीं का न छोङा हमें जिंदगी ने।।

 

ग़मों का असर तो हुआ दिल पे थोङा।
मगर मार डाला तेरी बेरूखी ने।।

 

न इतने बुरे थे जहां में कभी हम।
बुरा तो बनाया मेरी बेबसी ने।।

 

सराहा सभी ने मिरी शायरी को ।
छुपा दर्द लेकिन न देखा किसी ने।।

 

?
कवि व शायर: Ⓜ मुनीश कुमार “कुमार”
(हिंदी लैक्चरर )
GSS School ढाठरथ
जींद (हरियाणा)

यह भी पढ़ें : 

Romantic Ghazal | Love Shayari -नज़र तिरछी करे घायल सभी को इस ज़माने में

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here