सावन | Swan kavita

सावन  ( Sawan )   --> आया सावन झूमते, धरती को यूं चूमते || 1.फूल खिल रहे बगियन में, रंग बिरंगे तरह-तरह | बादलों में बिजली चमके, रिम-झिम बरसे...

समेट लूं | Samet lun ghazal

 समेट लूं  ( Samet lun )   ⛅ मैं प्यार का उसके रिश्ता समेट लूं वो उम्रभर दिल में चेहरा समेट लूं ⛅ ख़ुशबू बनके सदा मुझमे महके वही की अंश साँसों...

आओ माँ | Aao maa kavita

 " आओ माँ "  ( Aao Maa )   --> आओ मेरी जगत्-जननी माँ.......|| 1.आओ मेरी जगदानन्दी, मेरे घर आंगन में | स्वागत है अभिनन्दन है, मेरे घर आंगन...

बोझिल सांसें | Bojhil saansein ghazal

 बोझिल सांसें  ( Bojhil saansein )   ❣️ रोज़ निकली दिल से ही आहें बहुत आजकल बोझिल रहती सांसें बहुत ❣️ ढूंढ़ता ही मैं रहा राहें वफ़ा बेवफ़ा मिलती रही राहें बहुत ❣️ जख़्म...

दिल लगाना है मुझे भी | Ghazal by Nepali Urdu poet

 दिल लगाना है मुझे भी  ( Dil lagana hai mujhe bhi )     अमीर खुसरो से लेकर गुलज़ार, ग़ालिब है दीवाना बचूंगा भला मैं कैसे इस मुहब्बत से दिल...

️️आओ गणेश जी️ | Aao Ganesh Ji

️ आओ गणेश जी  ( Aao Ganesh Ji )   -->आओ मेरे गणराजा...........|| 1.आओ मेरे महराज गजानन, स्वागत है अभिनन्दन है | ऋद्धि-सिद्धि को साथ मे लाना, उनका भी...

रंग | Hindi poem rang

 "रंग"  ( Rang ) -->रंग समेटे हुए रंगीन नजारे, कितने सुंदर हैं || 1.रंगों से भरी रंगीन दुनियां, अत्यंत ही सुंदर है | जीवन मे सारे रंग भरे,...

नशा | Nasha kavita

"नशा"  ( Nasha ) -->हर काम का अपना "नशा"है | 1.हर पल नशे में है दुनियां, कोई तो मिले जो होश मे हो | नशे में डूबे हैं...

दीबार | Deewar kavita

 "दीबार"  ( Deewar )   -->मत बनने दो रिस्तों में "दीबार" || 1.अगर खडी हो घर-आंगन, एक ओट समझ मे आती है | छोटी और बड़ी मिलकर एक, सुंदर...

कनक | Kanak Hindi kavita

"कनक" ( Kanak  )   ✨ -->कनक कनक पर कौन सा..... ✨ 1.एक कनक मे मादकता, एक मे होए अमीरी | एक कनक मे मद चढे, एक मे जाए गरीबी | नाम...