सपनों के लिये
सपनों के लिये

सपनों के लिये

( Sapno ke liye )

 

हम अपने हर सपनों को सच कर सकते हैं,

 चाहे वो चांद पर जाना हो या हो कोई और लक्ष्य

 बस इच्छा हो, सनक हो एक जुनून मन में हो,

 एक चाहत हो, जो कभी कम न हो।

सपनों को सच करने के लिए इस पर

पूरी तरह समर्पित हो हम पूरी तरह,

अपनी पूरी ताकत लगा दे इसमें,

 हर संभव कोशिश करें सच करने की,

 मन में हर पल एक जुनून हो इसे पाने का,

 अपने सपनों में विश्वास हो, आस्था हो,

 तब असफलता या ऐसी कोई भी रुकावट

 न तो हमें तोड़ पाएगी न हमारे विश्वास को

 फिर सफल हो हम, अपने “सपनों” को जिएंगे।।

 

लेखिका : अर्चना  यादव

 

यह भी पढ़ें :  –

खामोशी विरोध की भाषा | Kavita khamoshi virodh ki bhasha

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here