सरस्वती वन्दना
सरस्वती वन्दना

सरस्वती वन्दना

( Saraswati Vandana )

?

?

ऐ चन्द्र वदिनी पदमासिनी
तू द्युति मंगलकारी
तू विद्या ज्ञान की देवी
मां प्रकाशिनी कहलाये
?

तू शुभ श्वेत वारिणी
तू शीष मणि धारिणी
तू अतुलित तेज धारी
तेरे चरणों में दुनियां सारी
?

तू हितकारी सुखकारी
तू निर्मल भक्ति पावे
तू ज्ञान रूप की देवी
हर और उजाला देवे
?

मुझे ज्ञान चक्षु दे माता
तू करके हंस सवारी
तू वीणा मधुर बजाकर
हर मंगल करने वाली
?

ऐ मेरी सरस्वती मां
तेरा वंदन करती हूं
मैं अपना तुच्छ जीवन
तुझे अर्पण करती हूं

??


डॉ. अलका अरोड़ा
“लेखिका एवं थिएटर आर्टिस्ट”
प्रोफेसर – बी एफ आई टी देहरादून

यह भी पढ़ें :

Hindi Kavita | Hindi Poem| Hindi Poetry -मैं और मेरे श्रोता

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here