दें गया ये साल दिल में रुसवाई ए यारों
दें गया ये साल दिल में रुसवाई ए यारों

दें गया ये साल दिल में रुसवाई ए यारों

 

दें गया ये साल दिल में रुसवाई ए यारों

जहनों दिल में ही बसी ग़म की परछाई ए यारों

 

होगी  चेहरे पे ख़ुशी लब पे हंसी सबके यहां

जिंदगी से ही बुरे दिन की विदाई है यारों

 

जिंदगी से ढ़ल जाऐगे ग़म सभी के देखिए

चल रही अच्छे दिनों की ही अब पुरवाई ए यारों

 

मुस्कुराहट हो हर चेहरे आने वाले साल में

हर ग़मों से मिल जाए सबको रिहाई ए यारों

 

हां मुहब्बत से मिले इक दूसरे से सब गले

फ़िर किसी के ही न जीवन हो  तन्हाई ए यारों

 

फ़ैसला हक़ में हो आज़म हर किसानों के है दुआ

हां किसानों की ही कब होगी  सुनवाई ए यारों

 

 

✏शायर: आज़म नैय्यर

(सहारनपुर )

यह भी पढ़ें : – 

 

ए सनम जिंदगी प्यार का नाम है

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here