कुंडली
कुंडली

कुंडली

( Kundali )

 

आम जनता झेल रही
विकट समय की मार
कोरोना ने कर दिया
जग का बंटाधार
जग का बंटाधार
कहर कोरोना बनकर
डसता जहरी नाग
कालिया जन को तनकर
कह सोनी कविराय
जगत का जीना हराम
कैसी आई लहर
संकट में पिसता आम

?

कवि : रमाकांत सोनी

नवलगढ़ जिला झुंझुनू

( राजस्थान )

यह भी पढ़ें :-

हे नाथ बचा लो | Kavita

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here