चमौली हादसा
चमौली हादसा

चमौली हादसा

( Chamoli Haadsha )

**********

टूटा ग्लेशियर
फिसला हिमयुक्त पर्वत शिखर
बाढ़ नदियों में आई,
कीचड़युक्त मलबे में फंस
कईयों ने जान है गंवाई।
टनल में कार्यरत कई मजदूर अब भी हैं लापता,
जाने कहां से आई ऐसी ये आपदा?
शासन, प्रशासन ने दु:ख है जताया,
आपदा प्रबंधन दल ने पूरी मुस्तैदी से रेस्क्यू आपरेशन चलाया;
अथक प्रयास कर बहुत जान भी है बचाया।
खोज अभी जारी है,
फंसे मजदूरों गांव वालों को-
सुरक्षित ढ़ूंढ़ने की चुनौती भारी है।
दो तीन राज्यों को किया गया है अलर्ट,
रहें निवासी वहां के सतर्क।
हो सके तो सुरक्षित स्थान पर चले जाएं,
रखें धीरज , अधीर न हो जाएं।
हिम्मत से काम लें,
किसका बस चला है प्रकृति के सामने?
फिर भी जांबाज अफसरों द्वारा प्रयास है जारी,
आपरेशन संतोषजनक है सरकारी।
शायद बच जाए कुछ और जिंदगियां,
बची हुई है जिनकी सिसकियां।
यह संतोष की बात होगी,
जनता कुछ राहत की सांस लेगी।
ईश्वर से है प्रार्थना,
मृतक आश्रितों को अब तू ही संभालना।

?

नवाब मंजूर

लेखक-मो.मंजूर आलम उर्फ नवाब मंजूर

सलेमपुर, छपरा, बिहार ।

यह भी पढ़ें :

Bhojpuri Kavita | Bhojpuri Poetry -बात मानीं देवर जी

 

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here