Home कविताएँ

कविताएँ

मैं अक्सर

मैं अक्सर   मैं अक्सर गली में बजती तुम्हारी पायल के घुँघरुओं की रुनझुन से समझ लेता हूँ तुम्हारा होना......   बजती है जब-जब सुबह-शाम या दोपहर जगाती है दिल की धड़कन और देखता हूँ...

ये आंसू के अक्षर हैं दिखाई नहीं देते

ये आंसू के अक्षर हैं दिखाई नहीं देते ( Ye Aansoo Ke Akshar Hai Dikhai Nahi Dete )     देते हैं दर्द मगर दवाई नहीं देते। एक बार...

आना किसी दिन

आना किसी दिन   किसी दिन आना और पास आकर दिल से पूछना... कि दोस्त....... क्या रंज है तुम्हें.....? नाराज़ हो क्या....? किस बात से ख़फ़ा हो.....? मुझसे रुसवा क्यूँ हो.......? अब तुम दूर...

चीर हरण (ककहरा)

चीर हरण (ककहरा)   कुरुवंश सुवंश में आगि लगी कुरुपति द्युत खेल खेलावत भारी।   खेलने बैठे हैं पांच पती दुर्योधन चाल चलइ ललकारी।   गुरुता गुरु द्रोण की छीन भई संग बैठे...

जागल बिहारी : निकलल नेताजी के होशियारी

जागल बिहारी : निकलल नेताजी के होशियारी *********** बिहार के जनता- भूल गईल बा मंदिर मस्जिद, आ भूल गईल बा जाति मजहब; भैया हो ! अबकी चुनाव में- बिहारी कइले...

कोरोना का जन्म स्थान

कोरोना का जन्म स्थान   --> है चीन मे बुहान शहर, जन्म स्थान कोरोना का || 1.किए कई तबाह अभी कर रही, जाने कितनों को करेगी | बड़ी...

लवली-अक्षय

लवली-अक्षय   -->अक्षय अक्षय नहीं, ब्रांड है ब्रांड"बिग ब्रांड"|| 1.प्यारा है दिल वाला है, हर आँख बसा वो तारा है | काम से अपने काम रखे, हर काम...

सब क्यों नहीं ?

सब क्यों नहीं ? ***** खुशबू सा महक सकते? चिड़ियों सा चहक सकते? बादलों सा गरज सकते? हवाओं सा बह सकते? बिजली सा चमक सकते? बर्फ सा पिघल सकते? सूर्य सा जल...

मुस्कुराना चाहिए

मुस्कुराना चाहिए ****** सदैव मुस्कुराना चाहिए, भूल से भी क्रोध नहीं जताना चाहिए। धर्म, विज्ञान सबने इसे खारिज किया है, धैर्य और मुस्कुराने को ही प्राथमिकता दिया है। मुस्कुराने से...

जरअ मत !

जरअ मत !  ** (भोजपुरी भाषा में) ******   ना त राख हो जइब, कोयला नियर खाक हो जइब। बाॅडी मास ( Body, Mass ) सब हो जाई हवा, एकर नइखे कवनो...