ख्वाहिश | Prem wali shayari

  ख्वाहिश   ( Khwahish )   काश तुम मेरी सर्दियों की अदरक वाली चाय हो जाओ और मैं तुम्हारी सुबह का पहला अखबार हो जाऊँ काश तुम मेरी ओस...

साल गया है

साल गया है     बातें हमारी फिर से वो टाल गया है। बस इसी कशमकश में ये भी साल गया है।।   जिसने भरे हैं पेट सबके बहाकर करके...

प्यासा हूँ मैं | Pyasa hoon main ghazal

 प्यासा हूँ मैं  ( Pyasa hoon main )   उल्फ़त का ही प्यासा हूँ मैं वो  बदला  आवारा  हूँ  मैं    यार रहूं ख़ुश कैसे मैं अब अंदर  से  ही  टूटा ...

आजकल के नेता | Political shayari

आजकल के नेता ( Aajkal ke neta )   ये वादे तो रोज करते हैं, मगर फिर भूल जाते हैं ।    ये ऐसे दोस्त हैं जो पीठ पर खंजर चुभाते...

खिलता हुआ गुलाब या कोई शराब हो

खिलता हुआ गुलाब या कोई शराब हो   खिलता हुआ गुलाब या कोई शराब हो। कितना हसीन तुमको कहूं बेहिसाब हो।।   मचले है जिसको देख के मस्ती भरा...

अदाएं है कातिल जुबां शायराना | Shayrana poetry

अदाएं है कातिल जुबां शायराना। ( Adayein hai katil zuban shayrana )    अदाएं है कातिल जुबां शायराना। यहीं पर मिलेगा ग़ज़ल का ख़ज़ाना।।   है आंखें ये मय सी...

मांग में सिंदूर भर दूँ मैं सनम

मांग में सिंदूर भर दूँ मैं सनम     मांग में सिंदूर भर दूँ मैं सनम आ तुझे दुल्हन सी कर दूँ मैं सनम   भूल जायेगी दर्द ग़म दिल...

उसने किया होगा ‘गजल’

उसने किया होगा 'गजल'   होके मजबूर मुझे उसने भुलाया होगा जहर जुदाई का उसने खातिर मेरे खाया होगा   कांटो को चुनकर उसने मेरे राहों से  उसने जीवन में...

Ghazal | कितनी हिम्मत वाली नारी है

कितनी हिम्मत वाली नारी है ( kitni  Himmat Wali Nari Hai )     कितनी हिम्मत वाली नारी है मुश्किल से न कभी हारी है   संसार चलाती है यें लोगों देखो...

कुछ लफ़्ज़ों में भावनाओं की अभिव्यक्ति

कई कई अर्थ लिए कुछ लफ़्ज़ों में भावनाओं की अभिव्यक्ति 1.   जुबाँ है पर आवाज नहीं,         और खामोशी में भी बातें हैं...