Home शेरो-शायरी

शेरो-शायरी

🍁  ख्वाहिश  🍁

🍁  ख्वाहिश  🍁 काश तुम मेरी सर्दियों की अदरक वाली चाय हो जाओ और मैं तुम्हारी सुबह का पहला अखबार हो जाऊँ काश तुम मेरी ओस की...

°°° यूँ तो °°°

°°° यूँ तो °°° यूं तो अकेले जीने का हौसला रखती हूं, फिर कभी किसी का साथ क्यों चाहती हूं ।   यूं तो मंजिल अकेले ही तय...

°° आजकल के नेता °°

आजकल के नेता ये वादे तो रोज करते हैं, मगर फिर भूल जाते हैं ।  ये ऐसे दोस्त हैं जो पीठ पर खंजर चुभाते हैं ! करेंगे सब की...

कुछ लफ़्ज़ों में भावनाओं की अभिव्यक्ति

कई कई अर्थ लिए कुछ लफ़्ज़ों में भावनाओं की अभिव्यक्ति 1.   जुबाँ है पर आवाज नहीं,         और खामोशी में भी बातें हैं...

°°°°° जीत – हार और खुशी °°°°°

°°° जीत - हार और खुशी °°° वह जीत ही क्या जब तक हार न मिले वह खुशी ही क्या जब तक दुख न मिले ।   वो...

या खुदा कर दे रिहा

  या खुदा कर दे रिहा हर पल यूँ ही आँखे भर जाना उदासी को दर्शाती है, खामोश रह, सब कुछ बर्दाश करना घुटन को बतलाती है ।। ये...

💧 प्यासा हूँ मैं 💧

💧 प्यासा हूँ मैं 💧 🥀 उल्फ़त का ही प्यासा हूँ मैं वो बदला आवारा हूँ मैं 🥀  यार रहूं ख़ुश कैसे मैं अब अंदर से ही टूटा हूँ मैं 🥀 भेज...

मुहब्बत की मुहब्बत से सदा

मुहब्बत की मुहब्बत से सदा   दिल-ए-मुज़्तर की हया हो जैसे लफ्ज़-ए-नस्र की अदा हो जैसे जिस तरह से उसको याद करता हूँ लगता है मुहब्बत की मुहब्बत से...

🌿 समेट लूं 🌿

🌿 समेट लूं 🌿 ⛅ मैं प्यार का उसके रिश्ता समेट लूं वो उम्रभर दिल में चेहरा समेट लूं ⛅ ख़ुशबू बनके सदा मुझमे महके वही की अंश साँसों में उसका...

🍁 दिल लगाना है मुझे भी 🍁

🍁 दिल लगाना है मुझे भी 🍁 🌸 अमीर खुसरो से लेकर गुलज़ार, ग़ालिब है दीवाना बचूंगा भला मैं कैसे इस मुहब्बत से 🌸 दिल लगाना है मुझे भी दिलकशी...