Darde Dil Shayari
Darde Dil Shayari

दर्दे दिल की नहीं दवा भेजी

( Darde dil ki nahi dawa bheji )

 

 

दर्दे दिल की नहीं दवा भेजी !

उसनें ऐसी कहा वफ़ा भेजी

 

ख़त्म जिसकी न प्यार की हो ये

बू  इधर  को  कहा भला भेजी

 

बेवफ़ाई की भेजी बू उसनें

कब मुझे ख़ुशबू बावफ़ा भेजी

 

बू  उधर  से आयी अदावत की

प्यार की  जिसको बू सदा भेजी

 

फ़ूल कब भेजा प्यार का उसनें

की  मेरी  और बस जफ़ा भेजी

 

हो  जहां  वो  रहे  ख़ुशी  से  ही

हक में उसके आज़म दुआ भेजी

❣️

शायर: आज़म नैय्यर

(सहारनपुर )

यह भी पढ़ें : –

प्यार से कब मिला है मुझे | Ghazal

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here