Home 2021 December

Monthly Archives: December 2021

पापा आपके जाने के बाद | Papa ki yaad kavita

पापा आपके जाने के बाद ( Papa aapke jane ke baad )   आपके जाने के बाद आँगन का ख़ालीपन कभी न भर पाया दहलीज लांघ तो ली मगर खुशियों...

करे है उससे फ़ासले हम नहीं | Ghazal

करे है उससे फ़ासले हम नहीं ( Kare hai usse faasle hum nahi )   करे है उससे फ़ासिले हम नहीं दग़ा प्यार में ही करे हम नहीं   चुनी...

नव वर्ष मंगलमय हो | Nav varsh mangalmay ho 2022

नव वर्ष मंगलमय हो ( Nav varsh mangalmay ho )   नव वर्ष अति हर्षद् सुखद आनन्दवृष्टिअपार हो। मेरे हृदय में आपका अनवरत साक्षात्कार हो।। नव वर्ष ० उपवन सुगंधित...

नया साल | Kavita naya saal

नया साल ( Naya Saal )     सर्द सी इस शाम में सोचा कुछ तेरे नाम लिख दूँ.....   शायद लफ्ज़ों की गर्मी से पिघल जाये जमी है जो बर्फ तेरे मेरे दरमियां   गिले शिकवे जो हो ' गर चले जायें साथ ही जाते हुये साल...

शेर की कविताए | Hindi poem of Sher Singh Hunkar

शेर की कविताए ( Sher ki kavitayen )   हाँ दबे पाँव आयी वो दिल में मेरे, दिल पें दस्तक लगा के चली फिर गयी। खोल के दिल...

इसलिए फूल भेजा नहीं प्यार का | Ghazal

इसलिए फूल भेजा नहीं प्यार का ( Isaliye phool bheja nahin pyar ka )     इसलिए फ़ूल भेजा नहीं प्यार का! था फ़रेबी से भरा दिल बहुत यार...

रंग | Kavita rang

रंग ( Rang )   रंगो की समझ हो तो तस्वीर बना दो। छंदो की समझ हो तो फिर गीत बना दो। जज्बात मे लहर हो तो प्यार तू...

नहीं दिल तू कभी अपना ख़फ़ा रखना | Khafa shayari

नहीं दिल तू कभी अपना ख़फ़ा रखना ( Nahi dil tu kabhi apna khafa rakhna )     नहीं दिल तू कभी अपना ख़फ़ा रखना मुहब्बत का हमेशा वास्ता...

विरह | Virah ke geet

विरह ( Virah )   वो अपनी दुनिया में मगन है, भूल के मेरा प्यार। मैं अब भी उलझी हूँ उसमें, भूल के जग संसार।   याद नही शायद मैं...

देशी प्रोड्यूसर की गांधी | Vyang desi producer ki Gandhi

देशी प्रोड्यूसर की गांधी ( Deshi producer ki Gandhi ) देशी प्रोडयूसर अभी तक पश्चाताप कर रहा है। उसे इस बात को अब तक मलाल है...