होम 2022 जनवरी

मासिक आर्काइव: जनवरी 2022

निबंध : धर्मनिरपेक्षता का भारतीय मॉडल पश्चिमी मॉडल से कैसे भिन्न...

  निबंध : धर्मनिरपेक्षता का भारतीय मॉडल पश्चिमी मॉडल से कैसे भिन्न है ( How is the Indian model of secularism different from the western model Essay...

बेवफ़ा | Bewafai par shayari

बेवफ़ा ( Bewafa )     नहीं राहें वो वफ़ा से भरी बेवफ़ा है मुहब्बत की राहें यारों सभी बेवफ़ा है   ग़मो की आहें निकलती यहाँ तो दिल से हुई मेरी...

अकड़ अमीरी का | Poem on akad ameeri ka

अकड़ अमीरी का ( Akad ameeri ka )     दिखाता है अकड़ वो ख़ूब ही मुझको अमीरी की! वही उडाता मजाक मेरी बहुत यारों ग़रीबी की   मगर फ़िर भी...

हे गगन के चंद्रमा | Poem on hey gagan ke chandrama

हे गगन के चंद्रमा ( Hey gagan ke chandrama )   तुम हो गगन के चन्द्रमा, मै हूँ जँमी की धूल। मुझको तुमसे प्रीत है, जो  बन गयी ...

मिट्टी की महक | जलहरण घनाक्षरी

मिट्टी की महक ( Mitti ki mahak )     सोंधी सोंधी मीठी मीठी भीनी भीनी पुरवाई लहलहाती धरती मिट्टी की महक आई   खुशहाली हर्ष भरा मेरे देश की माटी में उमंग उल्लास खुशी सबके...

ग़म यार हजार ज़ीस्त में है | Gam ghazal

ग़म यार हजार ज़ीस्त में है ( Gam yaar hajaar zeest mein hai )   ग़म यार हजार जीस्त में है इक पल न क़रार जीस्त में है   रूठी...

कब आओगे | Kab aaoge poem in Hindi

कब आओगे ( Kab aaoge )   वृन्दावन जस धाम जहाँ पर, जमुना जी का घाट। वहाँ  पे  राधा  देखे  आस , साँवरे  कब आओगे॥ .... शाम  से  हो गई ...

क्रान्ति वीर सुभाष | Poem on Subhash Chandra Bose in Hindi

क्रान्ति वीर सुभाष ( Krantiveer subhash )     जो लाखों सिंह सपूत जननि,भारत माता ने जाए हैं ! आख्यानअनगिनत रोमांचक,जगइतिहासों ने गाए हैं !   उनसब में वीसुभाष श्रेष्ठतम, क्रान्तिवीर...

मुफ्त की सलाह | Poem on muft ki salah

मुफ्त की सलाह ( Muft ki salah )     फ्री फ्री फ्री मुफ्त की सलाह मिल रही सबको फ्री हर मुश्किल समस्या का कोई इलाज लीजिए फ्री   सब हथकंडे...

अनजान राहें | Poem anjaan raahen

अनजान राहें ( Anjaan raahen )   वीरान सी अनजान राहें दुर्गम पथ बियाबान राहें। मंजिलों तक ले जाती हर मुश्किल सुनसान राहें। उबड़ खाबड़ पथरीली गर्म मरुस्थल रेतीली। पर्वतों...