जल ही जल | Vyang jal hi jal

जल ही जल ( Jal hi jal ) जल की ना पूछो भैया। आजकल तो बहुत जला रहा है। मर कर जलना तो सुना थाl या...

अथ वार्तालाप खबर एवं सम्वाददाता | Hindi mein satire

अथ वार्तालाप खबर एवं सम्वाददाता   वह खबर संवाददाता के पीछे पड़ी हुई थी और सम्वाददाता उससे पीछा छुड़ाकर भाग रहा था। आखिर कार उस खबर...

घसीटा और अन्न संकट | Hindi satire

घसीटा और अन्न संकट पत्रकार समाज के लिये प्रतिबद्ध था। उसे पत्रकार वार्ता के लिये मंत्री जी ने बुलवाया था। वह केमरा मेन लेकर चला...

दूरस्थ दर्शन | Satire in Hindi

दूरस्थ दर्शन ( Doorasth darshan )   दूरदर्शन वालों ने हमें दिखने का हक नही दिया केवल देखने का हक दिया है। उन्हे रंगीन देखने के लिये...

हीरो के भाई का मुंडन | Vyang hero ke bhai ka...

हीरो के भाई का मुंडन ( Hero ke bhai ka mundan ) मैं संगम पर अपना सिर मुंडवा रहा था। मेरे वालिद का इन्तकाल जो हो...

तिलक ब्रिज के कैक्टस | Vyang

तिलक ब्रिज के कैक्टस ( Tilak Bridge Ke Cactus ) साहित्यकार रचना लिख कर केवल रचना दान में पटक कर रखे तो किसी को आपत्ति नही...

देशी प्रोड्यूसर की गांधी | Vyang desi producer ki Gandhi

देशी प्रोड्यूसर की गांधी ( Deshi producer ki Gandhi ) देशी प्रोडयूसर अभी तक पश्चाताप कर रहा है। उसे इस बात को अब तक मलाल है...

बस्ती का अंतर्राष्ट्रीय साहित्यकार | Vyang

बस्ती का अंतर्राष्ट्रीय साहित्यकार ( Basti ka antarrashtriya sahityakar )   पत्नी वीरता पूर्वक साहित्य का सामना करती है। इस वाक्य के कई अर्थ हो सकते है।...

घोड़ों की नीलामी | Vyang

घोड़ों की नीलामी ( Ghodon ki nilami )   हर दिशा के घोड़ो को इकट्ठा किया गया था । उनको हिदायत दी गई थी कि नीलामी स्थल...

अन्तर्राष्ट्रीय गजल गायक | Vyang lekh

अन्तर्राष्ट्रीय गजल गायक   उद्घोषक ने उद्घोषणा की अब हम आपके सामने विश्व के मशहूर गजल गायक को प्रस्तुत करने जा रहे है । वह इसके...